Current Crime
उत्तर प्रदेश ग़ाजियाबाद

भगवा कमान्डर संजीव शर्मा ने कहा कि सभी बने तिरंगा यात्रा का गौरवमयी हिस्सा

युवा मोर्चा के राष्टÑीय अध्यक्ष और लोकसभा सांसद जनरल वीके सिंह होंगे यात्रा में शामिल
शहर के प्रमुख मार्गों से होकर गुजरेगी भाजपा की तिरंगा यात्रा
गाजियाबाद (करंट क्राइम)। हर घर तिरंगा अभियान को लेकर भाजपा पूरी तरह से एक्टिव है। वो इस अभियान से एक संदेश देना चाहती है और सोमवार को भाजपा के महानगर अध्यक्ष संजीव शर्मा ने सोशल मीडिया पर लाईव आकर सभी कार्यकर्ताओं से अपील की कि वह तिरंगा यात्रा में शामिल हों। उन्होंने कहा कि यह किसी पार्टी का नहीं बल्कि देश का अभियान है। दस अगस्त को भाजपा जब तिरंगा यात्रा निकालेगी तो गाजियाबाद में निकलने वाली इस यात्रा में भाजपा युवा मोर्चा के राष्टÑीय अध्यक्ष तेजस्वी सूर्या भी शामिल होंगे। केन्द्रीय मंत्री तथा गाजियाबाद के लोकसभा सांसद जनरल वीके सिंह भी तिरंगा यात्रा में शामिल होंगे।भाजपा के महानगर अध्यक्ष संजीव शर्मा ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर आकर सभी कार्यकर्ताओं से ये अपील की कि वह इस अभियान में जुड़े। यह देश का अभियान है और अपने राष्टÑीय ध्वज के सम्मान में तिरंगा यात्रा में शामिल हों।

घंटाघर से शुरू होगी भाजपा की हर घर तिरंगा यात्रा
आजादी के अमृत महोत्सव कार्यक्रम के तहत भाजपा तिरंगा यात्रा निकाल रही है। हर घर तिरंगा अभियान को चला रही है और दस अगस्त यानी बुधवार को भाजपा की हर घर तिरंगा यात्रा घंटाघर से शुरू होगी। यह यात्रा लगभग 6 किलोमीटर का चक्कर लगायेगी और शहर के विभिन्न मार्गों से होती हुई वापस घंटाघर पर समाप्त होगी।

अध्यक्ष की अपील झंडे खरीदकर लायें और हैलमेट जरूर लगायें
भाजपा एक तरफ तो जनप्रतिनिधियों को झंडों का टारगेट दे रही है। वार्ड में भी टारगेट दिये गये हैं और विधायकों और सांसदों को भी टारगेट दिये गये हैं। जनरल वीके सिंह पहले ही 31 हजार झंडे बांट चुके हैं। मेयर आशा शर्मा ने एक लाख झंडों की बात कही थी और दस हजार झंडे अभी तक बंटे हैं। इसी बीच महानगर अध्यक्ष संजीव शर्मा ने सोमवार को सोशल मीडिया पर लाईव आकर ये अपील की कि कार्यकर्ता झंडे खरीदकर लायें और रैली में चलते समय दुपहिया वाहन पर हैलमेट जरूर लगायें। यहां पर महानगर अध्यक्ष संजीव शर्मा की झंडे ब्लैक ना करने की अपील भी चर्चा में रही। उन्होंने झंडा खरीदने को देश की अर्थव्यवस्था में मदद से जोड़ा और कहा कि बीस से 25 रूपये का झंडा खरीदकर हम अर्थव्यवस्था में मदद कर सकते हैं।

अगर खरीदना है झंडा तो फिर जनप्रतिनिधियों के लिए क्यों टारगेट का फंडा
यदि कार्यकर्ता को ही अपनी जेब से पैसे खर्च कर राष्टÑीय ध्वज खरीदना है तो फिर ये सवाल उठा है कि जनप्रतिनिधियों को राष्टÑीय ध्वज के टारगेट का फंडा क्यों दिया गया। लोकसभा सांसद जनरल वीके सिंह से लेकर मेयर आशा शर्मा को टारगेट दिया गया। राज्य सभा सांसद से लेकर विधायकों को टारगेट दिया गया। पार्षदों को टारगेट दिया गया है। सवाल ये है कि जब देश की अर्थव्यवस्था में सहयोग करने के लिए कार्यकर्ताओं को खुद झंडे खरीदने हैं तो फिर टारगेट वाले झंडे कहां पर और किसके खाते में सैट होंगे।

Related posts

Current Crime
Ghaziabad No.1 Hindi News Portal
%d bloggers like this: