Current Crime
उत्तर प्रदेश ग़ाजियाबाद

आरआरटीएस के प्रायोरिटी सेक्शन में प्लेटफॉर्म स्क्रीन डोर्स लगाने का कार्य हुआ आरम्भ

प्लेटफॉर्म स्क्रीन डोर्स ट्रेन और ट्रैक के बीच में यात्रियों की करेंगे सुरक्षा
गाजियाबाद (करंट क्राइम)। दिल्ली-गाजिÞयाबाद-मेरठ आरआरटीएस कॉरिडोर पर आरआरटीएस स्टेशनों मे प्लेटफॉर्म स्क्रीन डोर्स (पीएसडी) इंस्टॉल करने का कार्य आरंभ कर दिया गया है। इसकी शुरूआत गुलधर आरआरटीएस स्टेशन से की गई है। इसके अंतर्गत प्लेटफॉर्म स्क्रीन डोर्स के विभिन्न पार्ट्स जैसे की, आॅटोमैटिक स्लाइडिंग डोर, फिक्स्ड डोर पैनल, प्लैटफार्म इंड गेट, आपातकालीन इस्केप डोर, और फिक्स्ड स्क्रीन आदि को प्लैटफार्म पर लगाया जा रहा है।
एनसीआरटीसी ने प्रारम्भ से ही यात्रियों की सुरक्षा को सर्वाधिक महत्व दिया है। यात्रियों की सुरक्षा के लिए ट्रेन और प्लेटफॉर्म स्क्रीन डोर्स के दरवाजे बंद होने के बाद ही ट्रेन को चलाया जा सकेगा। ऐसा दुनिया में पहली बार होगा कि लॉन्ग टर्म इवोल्यूशन (एलटीई) रेडियो पर आधारित सिग्नल्लिंग सिस्टम में नवीनतम डिजिटल इंटरलॉकिंग और स्वचालित ट्रेन आॅपरेशन (एटीओ) होगा। इससे ट्रेन की सेवा की हाई फ्रीक्वेंसी, बेहतर हेडवे और अधिक क्षमता संभव हो पाएगी। प्लेटफॉर्म स्क्रीन डोर्स ट्रेन और ट्रैक के बीच में यात्रियों की सुरक्षा के लिए ढाल के रूप में कार्य करेंगे, जिससे स्टेशनों पर बेहतर भीड़ प्रबंधन सुनिश्चित किए जाने के साथ-साथ किसी भी अप्रिय घटना जैसे यात्रियों के पटरियों पर गिरने जैसी घटनाओं से बचाव संभव हो सकेगा। प्रायोरिटी सेक्शन के बाकी स्टेशनों के लिए भी प्लेटफॉर्म स्क्रीन डोर्स लगाने की प्रक्रिया प्रारम्भ हो चुकी है। जैसे-जैसे इन स्टेशनों में रूफ शेड लगाने का कार्य पूरा होता जाएगा, प्लेटफॉर्म स्क्रीन डोर्स लगाने का कार्य भी गति पकड़ लेगा। आरआरटीएस कॉरिडोर पर प्राथमिक तौर पर चलाई जाने वाली ट्रेन 6 कोच की होगी। इसमें 5 स्टैंडर्ड और एक प्रीमियम क्लास कोच होगा। प्रत्येक स्टैंडर्ड क्लास कोच में एक तरफ 3 और प्रीमियम क्लास कोच में 2 दरवाजे होंगे। इस हिसाब से पूरी ट्रेन में कुल 17 दरवाजे होंगे। इसी आधार पर आरआरटीएस स्टेशनों के प्रत्येक प्लेटफॉर्म पर फिलहाल 17 पीएसडी लगाए जाने का प्रावधान है।

Related posts

Current Crime
Ghaziabad No.1 Hindi News Portal
%d bloggers like this: