Current Crime
ग़ाजियाबाद दिल्ली एन.सी.आर

साइकिल वाले नेता क्यों हो गये आउट आॅफ थीम प्रेजिडेंट नहीं पहुंचे तो क्या गायब हो जायेगी टीम

वरिष्ठ संवाददाता (करंट क्राइम)
गाजियाबाद। समाजवादी पार्टी के राष्टÑीय मुखिया इस समय पूरे चुनावी मूड के साथ सियासत के मैदान में हैं। विपक्षी दलों की बात करें तो यूपी में साईकिल वाला दल सबसे पहले रण को भांप रहा है। उसका चुनावी तैयारियों का रथ मैदान में है। लगातार प्रदेश और राष्टÑीय हाई कमान से प्रदर्शन और धरनों के कार्यक्रम का फरमान जारी हो रहा है। सपा हाई कमान चाहता है कि उसके कार्यकर्ता सड़कों पर उतरे और मौजूदा सरकार के खिलाफ एक माहौल बनाये।
जनता को ये विश्वास दिलायें कि समाजवादी पार्टी यहां चुनावी रण में है और बदला हुआ निजाम समाजवादी पार्टी ही दे सकती है। लेकिन गाजियाबाद में दिक्कत ये है कि समाजवादी पार्टी के पास नेता अधिक मात्रा में हैं और कार्यकर्ता कम हैं। 19 अक्टूबर को सपाईयों ने कलेक्ट्रेट पर प्रदर्शन के बाद एक ज्ञापन सौंपा था। यहां पर सपा के महानगर अध्यक्ष राहुल चौधरी अपनी पारिवारिक समस्या के कारण नही पहुंच सके थे। लेकिन धरने में ये नजर आया कि अगर महानगर अध्यक्ष राहुल चौधरी नही पहुंचे तो महानगर की टीम के कई पदाधिकारी ही धरने से गैप बना गये।
बताते हैं कि इस धरने में सपा महानगर की टीम के महासचिव और उपाध्यक्ष भी नही पहुंचे। अब कहने वाले कह रहे हैं कि कम से कम पदाधिकारी तो यहां पहुंच सकते थे। सपा को अपनी थीम पर काम करना चाहिए था। वो किसी एक व्यक्ति पर नही बल्कि टीम वर्क पर दिखनी चाहिए थी। यदि ऐसा होगा तो फिर अध्यक्ष की भी बात हाई रहती। पार्टी के पुराने नेता भी प्रदर्शन में महानगर पदाधिकारियों के ना पहुंचने से खफा दिखाई दिए। उनका भी आॅफ द रिकार्ड यही करना था कि यह प्रदर्शन समाजवादी पार्टी का था और पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष के निर्देशों पर था। यह प्रदर्शन महानगर अध्यक्ष का नही था जो उनके ना आने पर पदाधिकारी भी नही पहुंचे। पदाधिकारियों को हाई कमान के आदेश का पालन करना चाहिए था और उन्हें समाजवादी होने का एहसास कराना चाहिए था। ये भी चर्चा है कि क्या समाजवादियो के पास सूचना नही पहुंची थी। क्या समाजवादियों के व्हाट्सएप पर कोई दिक्कत थी।

महानगर के ये पदाधिकारी रहे ज्ञापन से दूर
जब समाजवादियों ने कलेक्ट्रेट पर हुंकार भरी तो सपा महानगर टीम के कई पदाधिकारी इस कार्यक्रम से दूर थे। ये तब था जब महानगर की ओर से आदेश जारी थे। सपा के महानगर इकाई के महामंत्री मुकीम चौधरी इस कार्यक्रम में नही पहुंचे। उपाध्यक्ष हिमांशु पाराशर, उपाध्यक्ष दिलशाद इस्लाम, संजय बाली, राकेश प्रमुख, नवीन गुप्ता, आदेश शर्मा, कल्लन पार्षद कलेक्ट्रेट वाले ज्ञापन से एक डिस्टेंस बना गये। ये वो चेहरे हैं जो महानगर में पदाधिकारी हैं मगर अध्यक्ष की अनुपस्थिति में ये पदाधिकारी सबसे पहले गैर हाजिर हो गये।

राहुल चौधरी के पिता हैं अस्पताल में भर्ती
राहुल चौधरी सपा के महानगर अध्यक्ष हैं। वह हर कार्यक्रम में पूरी ताकत के साथ कार्यकर्ताओं के साथ खड़े नजर आते हैं। मुद्दों को लेकर आवाज उठाते हैं। जब राहुल चौधरी ही सपा के कार्यक्रम में नजर नही आये तो करंट क्राइम ने इस वजह को तलाशा। तब पता चला कि राहुल चौधरी के पिता का स्वास्थ्य इन दिनों सही नही चल रहा है। उनकी तबीयत खराब होने के बाद उन्हें उपचार के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है। राहुल चौधरी अपने बीमार पिता के पास अस्पताल में मौजूद थे। इसलिए वह कलेक्ट्रेट में ज्ञापन और प्रदर्शन में नही पहुंच सके।

Related posts

Current Crime
Ghaziabad No.1 Hindi News Portal
%d bloggers like this: