Current Crime
उत्तर प्रदेश

कोरोना से मौत पर घर में मातम, निकला जिंदा

संतकबीरनगर। उत्तर प्रदेश के संतकबीरनगर में एक ऐसा मामला सामने आया जिसने प्रशासनिक अधिकारियों की लापरवाही की पोल खोल दी। हुआ यूं कि एक कोरोना पॉजिटिव की मौत की गलत सूचना एक परिवारी को दे दी गई। यही नहीं मृतक का शव भेज दिया गया। रात भर घरवाले और गांव वाले मातम मनाते रहे। सुबह जब अंतिम संस्कार के समय पिता ने युवक का शव खुलाकर मुंह देखा तो पता चला कि यह उसका बेटा ही नहीं है। जिले के महुली क्षेत्र के मथुरापुर गांव निवासी 28 वर्षीय युवक अपने 22 वर्षीय छोटे भाई के साथ मुंबई में रहता था। बड़ा भाई 13 मई व छोटा भाई 16 मई को ट्रक से मुंबई से लौटे थे। ट्रांजिट सेंटर खलीलाबाद में थर्मल स्क्रीनिंग कराने के बाद दोनों भाई घर पर क्वारंटीन थे। इधर बड़े भाई को बुखार हुआ था तो सोमवार सुबह उसे जिला अस्पताल भेज दिया गया। वहां से उसे बस्ती के कैली अस्पताल रेफर कर दिया गया। सोमवार रात करीब 11 बजे पुलिस ने घरवालों को सूचना दी कि बस्ती के कैली में भर्ती युवक की मौत हो गई।

शव का चेहरा देखते ही उड़े होश
मंगलवार सुबह युवक का शव भी भेज दिया गया। कोविड-19 के प्रोटोकॉल के तहत शव का अंतिम संस्कार करने के लिए युवक के पिता और उसके तीन भाइयों को पीपीई किट उपलब्ध करवाई। शव का अंतिम संस्कार करने से पहले पिता ने सील बैग को तोड़ा और शव का चेहरा देखा तो उसके होश उड़ गए। इसके बाद उसने अधिकारियों को जानकारी दी और शव लेने मना कर दिया।

Related posts

Current Crime
Ghaziabad No.1 Hindi News Portal
%d bloggers like this: