Current Crime
दिल्ली एन.सी.आर देश

हथकड़ी और बुलेट प्रूफ जैकेट पहनाकर दुबे को यूपी बार्डर तक ले गई थी उज्जैन पुलिस

उज्जैन । महाकाल मंदिर परिसर से पकड़े जाने के बाद गैंगस्टर विकास दुबे को पहले महाकाल थाने और फिर भैरवगढ़ थाने ले जाया गया था। 11 घंटे की पूछताछ के बाद गुरुवार रात 7.30 बजे उत्तर प्रदेश एसटीएफ (स्पेशल टास्क फोर्स) के तीन अधिकारी और उज्जैन पुलिस के 20 अधिकारी-कर्मचारी चार-अलग-अलग गाडि़यों में उसे लेकर उत्तर प्रदेश की ओर रवाना हुए थे।
सूत्रों के अनुसार हमले की आशंका के चलते पुलिस टीम और दुबे को बुलेट प्रूफ जैकेट पहनाए गए थे। साथ ही गैंगस्टर को हथकड़ी भी लगाई गई थी। शिवपुरी के आगे उसे लेने के लिए उप्र पुलिस का बल पहुंच चुका था, जहां दुबे की सुपुर्दगी के बाद उज्जैन पुलिस लौट आई थी। अधिकारियों ने बताया कि पूरे रास्ते दुबे कभी अकड़ता तो कभी मिमियाता रहा था।
दुबे को लेकर जाने वाली उज्जैन पुलिस की टीम में एक सीएसपी, एक इस्पेक्टर, एक सब-इस्पेक्टर, असिस्टेंट सब-इंस्पेक्टर और पुलिस जवान शामिल थे। गुरुवार रात करीब 2.30 बजे दुबे को गुना-शिवपुरी बाईपास पर उप्र पुलिस के सुपुर्द किया गया था। रात में ही कागजी कार्रवाई की गई। सुपुर्दगी के बाद उज्जैन पुलिस लौट आई। प्रदेश की सीमा तक छोड़ने गई पुलिस टीम में शामिल एक पुलिसकर्मी ने नाम नहीं प्रकाशित करने की शर्त पर बताया कि दुबे को उप्र पुलिस को सौंपने के बाद उससे बुलेट प्रूफ जैकेट उतरवा ली गई थी। जैकेट मप्र पुलिस का था। सुपुर्दगी के बाद दुबे को उप्र पुलिस कैसे ले गई, यह नहीं पता। उज्जैन पुलिस को एनकाउंटर की खबर वापस लौटने के बाद लगी।
विकास को जब उज्जैन से कानपुर ले जाया जा रहा था तब मक्सी से ही पुलिस वाहनों के पीछे मीडियाकर्मी लग गए थे। इस दौरान एक पुलिस अधिकारी ने मीडियाकर्मी की कार की चाबी भी ले ली थी। हालांकि, वरिष्ठ अधिकारी तक सूचना पहुंचने के बाद मीडियाकर्मी की गाड़ी की चाबी लौटा दी गई थी।

Related posts

Current Crime
Ghaziabad No.1 Hindi News Portal
%d bloggers like this: