शतक चूकने के बाद विराट के शब्दों ने दी प्रेरणा : हनुमा विहारी

0
121

नई दिल्ली (ईएमएस)। वेस्ट इंडीज दौरे पर गई टीम इंडिया के खिलाड़ी हनुमा विहारी ने कप्तान विराट की प्रशंसा करते हुए एक अच्छा प्रेरक बताया है। उनके लिए यह दौरा शानदार रहा है। 2 टेस्ट मैच की सीरीज में बोलिंग में हीरो जसप्रीत बुमराह रहे, तो बैटिंग में युवा खिलाड़ी हनुमा विहारी ने भी खास छाप छोड़ी। विहारी ने यहां सीरीज के अंतिम टेस्ट में अपने टेस्ट जीवन का पहला शतक भी ठोका। भारत ने यह सीरीज 2-0 से अपने नाम की। इस कामयाब दौरे की समाप्ति के बाद दौरे के स्टार बल्लेबाज रहे हनुमा विहारी ने बताया कि विराट की किस खास बात ने उन्हें शानदार परफॉर्म करने के लिए प्रेरित किया। इस सीरीज में सबसे ज्यादा 289 रन बनाने वाले हनुमा विहारी ने 4 पारियों में 96.33 की गजब की औसत से रन कूटे। पहले टेस्ट में मात्र 7 रन से अपना शतक चूकने वाले हनुमा से जब विराट की प्रतिक्रिया के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि विराट के शब्दों ने उन्हें और अच्छा करने की प्रेरणा दी।
अपने इस दौरे के बारे में हनुमा ने कहा, ‘यह शानदार टूर रहा। मेरे लिए यह थोड़ा लंबा जरूर था क्योंकि मैं यहां भारत ए टीम के साथ भी था और फिर टेस्ट टीम के साथ भी। लेकिन भारत ए के लिए यहां खेलकर मुझे टेस्ट सीरीज में बहुत लाभ मिला। टेस्ट सीरीज से पहले खेलकर मुझे यहां परिस्थितियों के साथ तालमेल बैठाने में मदद मिली। मैं सही समय पर फॉर्म में आ गया और अपने इस प्रदर्शन से मैं खुश हूं।’ इस युवा बल्लेबाज ने दोनों ही टेस्ट में अलग-अलग अंदाज में बैटिंग की। जब विहारी से इस पर कहा कि टेस्ट क्रिकेट में इसी की खास जरूरत होती है। कभी-कभी आपको टीम के लिए तेजी से रन जुटाने होते हैं और कभी-कभी भरपूर धैर्य के साथ बैटिंग करनी होती है। मैंने यहां बैटिंग परिस्थितियों को सही ढंग से भांपा और उनके मुताबिक बैटिंग की। मैं दोनों ही स्टाइल (अटैकिंग और धैर्यपूर्ण) में बैटिंग कर लेता हूं। इसीलिए दोनों टेस्ट में मेरा स्ट्राइक रेट अलग-अलग है।