Current Crime
अन्य ख़बरें उत्तर प्रदेश ग़ाजियाबाद दिल्ली एन.सी.आर

30000 बच्चों और 9000 गर्भवती का हुआ टीकाकरण

गाजियाबाद। स्वास्थ्य विभाग का राष्ट्रीय टीकाकरण कार्यक्रम अब पटरी पर आ गया है। जनपद में पिछले माह नौ मई से टीकाकरण कार्यक्रम पुन: संचालित किए जाने के बाद से अब तक शून्य से दो वर्ष तक के कुल 29600 बच्चों और 8862 गर्भवती का टीकाकरण किया जा चुका है। आशा, एएनएम और आंगनबाड़ी कार्यकर्ता टीकाकरण के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग का सख्ती से पालन कर रही हैं। कोरोना संक्रमण के चलते पूरे देश में लॉक डाउन लागू होने के दौरान राष्ट्रीय कार्यक्रम टीकाकरण भी डेढ़ माह से अधिक समय तक बाधित रहा था।
जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डीआईओ एसीएमओ डा विश्राम सिंह ने सोमवार को बताया आशा एएनएम उपकेंद्रों पर हर बुधवार और शनिवार को आयोजित ग्राम स्वास्थ्य पोषण दिवस वीएचएनडी के अलावा शहरी व ग्रामीण प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र पीएचसी सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र सीएचसी पर भी टीकाकरण किया जा रहा है। जनपद में कोरोना संक्रमण के चलते कंटेनमेंट एरिया में अभी टीकाकरण अभियान नहीं चलाया जा रहा है। खोड़ा में संक्रमण अधिक होने के कारण वहां अभी टीकाकरण अभियान शुरू नहीं कराया जा सका है। डीआईओ ने बताया डेढ़ माह से अधिक समय तक टीकाकरण कार्यक्रम पूरी तरह से बंद रहने के कारण जनपद में बैकलॉग काफी हो गया थाए इसलिए बुधवार और शनिवार के अलावा बाकी। दिनों में भी अर्बन पीएचसी, पीएचसी और सीएचसी पर टीकाकरण किया जा रहा है।
जिला प्रतिरक्षण अधिकारी ने बताया इस दौरान गर्भवती महिलाओं को टीडी टिटनेस डिप्थीरिया का टीका लगाया गया। यह टीका गर्भ के तीसरेए पांचवें और सातवें माह में लगाया जाता है। इसके अलावा शून्य से दो वर्ष तक के बच्चों को बीसीजी, पोलियो, आईपीबी, हेपेटाइटिस, डीपीटी, रोटा वायरस, पेंटा, एमआर और विटामिन ए का वैक्सीन दिया गया है।

एमआर के साथ विटामिन ए देना जरूरी:-
बच्चों को एमआर यानी मीजल्स-रूबेला का वैक्सीन देते समय विटामिन ए की खुराक दी जानी बहुत जरूरी होती है। डा सिंह ने बताया बच्चों को मीजल्स का टीका देने से निमोनिया होने का खतरा रहता है। इसलिए इसके टीके के साथ विटामिन ए की खुराक अनिवार्य रूप से दी जाती है। उन्होंने बताया बीसीजी का टीका बच्चे के जन्म से एक वर्ष तक की अवधि में दिया जाता है, जबकि आईपीबी यानी इंजेक्टेबल पोलियो वैक्सीन डेढ़ माह और साढ़े तीन माह की आयु पर दिया जाता है।

Related posts

Current Crime
Ghaziabad No.1 Hindi News Portal
%d bloggers like this: