Current Crime
अन्य ख़बरें ग़ाजियाबाद

उठते सवालों का करंट (30/06/2020)

  • क्यों कहा कहने वाले ने कि मैं बताना चाहता हूं आपको एक बात? जिस युवा तोमर नेता की गाड़ी पर लगा है विधायक का स्टीकर वो गाड़ी आई थी विधायक जी से ही उसके पास? गाड़ी का मॉडल है सफारी? सुना है युवा तोमर नेता भी शुरु कर चुका है इसे बेचने की तैयारी? यह गाड़ी खरीदी थी युवा तोमर ने अपनी ही बिरादरी के पार्षद से? स्टीकर तब भी लगा था और अब भी लगा है? ना जाने क्या चल रहे हैं युवा तोमर नेता के मन में?
  • क्यों कहा कहने वाले ने कि सपा वाली रिकार्डिंग वाले प्रकरण में शामिल थे चार चेहरे? दो आपस में बात कर रहे थे? दो चेहरे कान लगाकर सारी बात सुन रहे थे? क्यों कहा कहने वाले ने कि हमें तो है इस बात की हैरानी? एक घंटा 48 मिनट की है रिकार्डिंग? मगर इस दौरान ना कुछ छींका? ना कोई खांसा? बस इसी खामोशी ने बीप.बीप. बोलने वाले नेता को फांसा? कसम मैं मान गया खामोशी से बात सुनने वालों को? उन्होंने बातचीत के दौरान एक कान से दूसरे कान तक भी नहीं बदला फोन का पांसा?
  • क्यों कहा कहने वाले ने कि भगवा कमांडर कर दें अब इस बात को पूरी तरह से क्लीयर? कार्यालय प्रभारी अगर कोई नया बन गया है तो करना चाहिए उसका नाम डिक्लेयर? क्यों कहा कहने वाले ने कि हम यूं ही नहीं कह रहे हैं यह बात? सुना है पिछले 20 दिनों से संजय त्यागी नहीं गए हैं महानगर कार्यालय गाजियाबाद? सुना है कार्यालय प्रभारी की सीट पर और दराज में जो रखा था त्यागी जी ने सामान? उसे भी हटा दिया गया है साहब? क्या यह संदेश काफी है त्यागी जी के लिए जनाब?
  • क्यों कहा कहने वाले ने कि भगवा कमांडर के खास के घर पर आजकल खूब डाल रहे हैं चाचा, काम से ईश्वर की तमन्ना रखने वाले और नव की नीव रखने वाले डेरा? सुना है कहीं बैठा तो नहीं रहे वह भगवा कमांडर के खास के ऊपर कोई राजनीतिक पेहरा? सुना है जब बनाई खास ने दूरी? तब से बढ़ा दिया है इन सबने खास के घर पर पेहरा? आखिर यह नई मौहब्बत है या इसके पीछे है कोई ओर ही चेहरा?
  • क्यों कहा कहने वाले ने कि भगवा जिला उपाध्यक्ष को हुआ था कुछ दिन पहले कोरोना? सरकारी लापरवाही से इलाज के दौरान था वो खासा नाराज? उसने मिला दिए थे व्यवस्थाओं की खामी को लेकर कई जगह फोन? फिर भी नहीं बनी थी बात? सुना है बात पहुंची थी भगवा राणा तक भी? मगर यहां पर अहम भूमिका में आये प्रदेश वाले सिंह साहब? सुना है अब हो गईं हैं व्यवस्थाएं ठीक? मगर कईं हो चुके हैं अब जिला उपाध्यक्ष के मन में अच्छे और कई हो चुके हैं वीक?
  • क्यों कहा कहने वाले ने कि नगर निगम कार्यकारिणी उपाध्यक्ष चुनाव दिखाएगा अभी ओर भी रंग? सुना है हैवी वेट जनप्रतिनिधि पूरी ताकत से आ गए हैं भगवान की जय करने वाले अग्रवाल जी के संग? क्यों कहा कहने वाले ने कि जब से लगी है मिस्टर अग्रवाल के लिए हैवी वेट वाली सिफारिश? तब से हो गया है पूरी वायु की ताकत से मिस्टर गोयल का नाम उठाने वाले वेस्टर्न वाले पदाधिकारी का नाम खारिज? सुना है अब दो ही नाम हैं इन मैदान? एक का नाम आर से और दूसरे नाम है भगवान?
  • क्यों कहा कहने वाले ने कि वो भले ही खुद को मीडिया वाली जिम्मेदारी से दूर बताएं? मगर उनकी गाड़ी पर लगे स्टीकर करा रहे हैं कुछ और ही अहसास? वह भले ही कहें कि मीडिया वाले सिस्टम से हमारा कुछ नहीं लेना देना? तो फिर गाड़ी पर मीडिया वाले स्टीकर क्यों चिपका कर घूम रहे हैं जनाब? क्यों कहा कहने वाले ने कि भगवा वाले कर देते हैं हर मामले को आर-पार? रखते हैं इस तरह नजर जैसे रखता है कोई चौकीदार?
  • क्यों कहा कहने वाले ने कि पूर्व त्यागी पार्षद वर्तमान त्यागी पार्षद से हैं इस वक्त बहुत ज्यादा नाराज? उनकी नाराजगी की वजह यह है कि मिस्टर मित्तल पार्षद की लड़ाई में क्यों खामोश हो गए हैं वर्तमान वाले त्यागी साहब? क्या पूर्व पार्षद के मन में हैं कुछ ओर ही अहसास? क्या वह बताना चाहते हैं कि वर्तमान त्यागी पार्षद ने खामोशी बरतने के लिए ताकतवर लेडी जनप्रतिनिधि से मिला लिये हैं हाथ? क्या भविष्य में भी इसी तरह खामोश रहेंगे क्रांतिकारी पार्षद? ये देखने वाली है बात?
  • क्यों कहा कहने वाले ने कि भाजयुमो के दो बड़े शूरवीरों ने कर ली है आपस में बिजनेस वाली डील? सुना है आज कल जिले और महानगर वाले लगा रहे हैं डूडा वाले आॅफिस के चक्कर? मिल जाए कोई मजबूत ठेका? इसको लेकर मार रहे हैं यहां के कार्यालयों के चक्कर? क्यों कहा कहने वाले ने कि जिले और महानगर वालों का दिखेगा ऐसा प्यार? पार्टी रहेगी बाद में पहले रहेगा व्यापार? देखते हैं उन्हें टेंडर मिलेगा या नहीं? क्या होगा इनका बेड़ा पार?
  • क्यों कहा कहने वाले ने कि गोल्डन वॉटर की दुकान को बंद कराने के लिए जनरली किसी खास ओबीसी चेहरे ने दे दिया है आंदोलनकारियों को आश्वासन? क्या कहा है कि वह इस संबंध मे करेंगे साहब से बात? कराएंगे डीएम साहब को फोन? दिलाएंगे जनता को इंसाफ? क्यों कहा कहने वाले ने कि लिख कर रख लो हमारी बात? इस काम के लिए जनरली खास चेहरे नहीं कर पाएंगे साहब से बात? आंदोलन कारियों को खुद ही जाना होगा साहब के पास?

Related posts

Current Crime
Ghaziabad No.1 Hindi News Portal
%d bloggers like this: