श्रीलंका में खून-खराबा रोकने के लिए तुरत पहल जरूरी : विक्रमसिंघे

0
60

कोलंबो (ईएमएस)। श्रीलंका के ताजा राजनीतिक घटनाक्रम में प्रधानमंत्री पद से बर्खास्त किए गए रानिल विक्रमसिंघे ने चेतावनी दी है कि देश में ‘‘खूनखराबा’’ रोकने के लिए समय निकला जा रहा है। हालांकि, उन्होंने उम्मीद जताई कि अगले दिनों में संसद संवैधानिक संकट को सुलझा लेगी। बीते एक सप्ताह से प्रधानमंत्री के आधिकारिक आवास में जमे हुए विक्रमसिंघे ने कहा कि बेसब्र लोग श्रीलंका में अराजकता पैदा कर सकते हैं। राष्ट्रपति मैत्रीपला सिरिसेना ने बीते 26 अक्टूबर को विक्रमसिंघे को प्रधानमंत्री पद से बर्खास्त कर दिया था और पूर्व राष्ट्रपति महिंदा राजपक्षे को नया प्रधानमंत्री नामित कर दिया था। हालांकि, विक्रमसिंघे ने अपनी बर्खास्तगी स्वीकार करने से इनकार कर दिया है।