Current Crime
दिल्ली एन.सी.आर देश

प्रियंका बंगला मामले में केंद्रीय मंत्री पुरी, ईरानी ने आईएएनएस की खबर का समर्थन किया

नई दिल्ली| कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी वाड्रा द्वारा आईएएनएस की खबर को ‘फेक न्यूज’ करार दिए जाने के कुछ ही समय बाद प्रमुख केंद्रीय मंत्रियों ने तथ्यों के साथ उन्हें जवाब दिया, जो प्रियंका के दावे के विपरीत हैं। केंद्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्री स्मृति ईरानी ने आईएएनएस की खबर का समर्थन करते हुए कांग्रेस महासचिव पर कटाक्ष करते हुए कहा, “सच्चाई और कांग्रेस कभी भी एक साथ नहीं आ सकते.. सच यह है कि एक नोटिस भेजा गया था और बकाया राशि का भुगतान न करना, खुद ही सब कुछ बयां कर देता है। कांग्रेस नेता ने हरदीप पुरीजी आपको फोन किया था क्योंकि हाईकमान का ऑर्डर है।”

इस हमले की शुरुआत केंद्रीय आवास और शहरी मामलों के मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने की थी। बताया गया है कि प्रियंका ने बंगले में रहने देने की मोहलत बढ़ाने की गुजारिश की थी।
पुरी ने ट्वीट किया, “”तथ्य खुद अपनी गवाही देते हैं। एक बड़े कांग्रेसी नेता ने मुझे चार जुलाई, 2020 को दोपहर 12.05 बजे फोन किया कि 35, लोधी एस्टेट को दूसरे कांग्रेस सांसद को आवंटित कर दिया जाए, ताकि प्रियंका वाड्रा वहां बनी रहें। कृपया सब कुछ सनसनीखेज न बनाएं।”

हालांकि पुरी ने कांग्रेस नेता का नाम नहीं लिया है, लेकिन माना जाता है कि वह कांग्रेस के पुराने नेता हैं और गांधी परिवार के वफादार हैं। भाजपा के वरिष्ठ सांसद और पूर्व मंत्री राधा मोहन सिंह ने प्रियंका गांधी के ‘फर्जी खबर’ के दावे के बाद कहा, “बंगले के लिए प्यार है, लेकिन दिखाना नहीं चाहतीं। लेकिन सच्चाई छिपी नहीं रह सकती।”

केंद्र की तरफ से फैक्ट चेकिंग तब सामने आई है, जब प्रियंका ने आईएएनएस की उस स्टोरी को फेक न्यूज बताया, जिसमें लिखा गया था कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किस तरह एक अनुरोध के बाद प्रियंका गांधी को कुछ समय तक लुटियंस वाले बंगले में रहने की अनुमति दे दी है। इसके बाद हरदीप पुरी के ट्वीट ने आईएएएनएस की खबर की सच्चाई पर मुहर लगा दी।

कांग्रेस के संचार विभाग के प्रमुख रणदीप सिंह सुरजेवाला ने विवाद के बीच एक रास्ता निकालने की कोशिश की। उन्होंने कहा कि प्रियंका जी लोगों के हित के लिए लड़ती हैं और उन्हें आप जैसों के एहसान की जरूरत नहीं है, तो बेवजह मामले को घसीटना बंद करें।

वरिष्ठ पत्रकार रोहित सरदाना ने वाड्रा के दावे के स्क्रीनशॉट को पोस्ट करते हुए ट्वीट किया,”बंगले पर हंगामा खत्म नहीं हुआ है।” न्यूज 18 हिंदी के मैनेजिंग एडिटर अमीश देवगन ने प्रियंका पर कटाक्ष करते हुए कहा, “बंगले पर भौकाल टाइट है।” वहीं, प्रियंका ने पुरी के ट्वीट के जवाब में कहा कि अगर उन्हें किसी ने फोन किया है तो वह उनकी चिंता के लिए आभारी हैं, लेकिन उन्होंने ऐसी कोई दरख्वास्त नहीं की है और वह एक अगस्त को बंगला खाली कर देंगी।

वहीं, पुरी ने पलटवार करते हुए कहा, ” जिस नेता ने मुझे फोन किया वह बड़ा कांग्रेसी नेता है, ये वहीं राजनीतिक सलाहकार हैं जो आपके परिवार की ओर से बोलते हैं। उनके अनुरोध पर ही हमने दो महीने की मोहलत देने का फैसला किया था।” 35 लोधी एस्टेट कई सालों से प्रियंका गांधी का आशियाना रहा है।

Related posts

Current Crime
Ghaziabad No.1 Hindi News Portal
%d bloggers like this: