Current Crime
ग़ाजियाबाद

त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव: गाजियाबाद जिले में 74.33 फीसदी मतदाताओं ने किया मताधिकार का प्रयोग

-पहले नंबर पर मुरादनगर में रिकार्ड 79.16 फीसदी मतदाताओं ने डाली वोट
-दूसरे पर भोजपुर, तीसरे पर लोनी व चौथे स्थान पर रजापुर में मतदाताओं ने किया मतदान

गौरव शशि नारायण, प्रमोद शर्मा हरिशंकर शर्मा (करंट क्राइम)

गाजियाबाद। त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में वीरवार को गाजियाबाद के ग्रामीण मतदाताओं ने बढ़चढ़ कर हिस्सा लिया और यहां के चारों ब्लॉकों पर 74.33 फीसदी मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया। वीरवार को सुबह सात बजे मतदान की प्रक्रिया को प्रारम्भ किया गया और देरशाम छह बजे तक मतदाताओं ने लाइनों में लगकर अपने मताधिकार का प्रयोग किया। जनपद में सबसे अधिक मुरादनगर ब्लॉक में मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया। पहले नंबर पर मुरादनगर, दूसरे पर भोजपुर, तीसरे पर लोनी व चौथी स्थान पर रजापुर ब्लॉक में मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया। वीरवार को सुबह सात बजे मतदान की प्रक्रिया को जिला निर्वाचन की ओर से शुरू कराया गया। मतदान केंद्रों पर सुबह से ही मतदाताओं की भीड़ लाइनों में देखी गई। सुबह तेज गति से शुरू हुआ मतदान दोपहर तक तेज गति में देखने को मिला और फिर शाम के समय मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया।

भोजपुर, लोनी और रजापुर ब्लॉक को पछाड़ मुरादनगर में सर्वाधिक रहा वोटिंग प्रतिशत

वीरवार को त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में मुरादनगर के मतदाताओं ने सर्वाधिक अपने मताधिकार का प्रयोग किया। मुरादनगर ब्लॉक ने भोजपुर, लोनी व रजापुर ब्लॉक को पछाड़ते हुए वोट डालने के मामले में नंबर-1 दर्ज कराया है। मुरादनगर में – 79.16 फीसदी मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया। इसके अलावा भोजपुर-76.88 फीसदी, लोनी – 71.50 फीसदी व रजापुर- 68.16 फीसदी मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया।
कोरोनावायरस के भीषण प्रकोप के बीच बृहस्पतिवार को त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के लिए मतदान हुआ। इस दौरान कई जगह दो गज की दूरी जैसी सावधानियां को भी लोग नजरअदांज करते देखा गया तो वहीं कुछ स्थानों पर जागरूक मतदाता और पुलिसकर्मी भी ऐसे मिले जो चेहरे पर केससीट लगाए हुए थे। उन्होंने हाथों में दस्ताने पहने हुए थे और चेहरे पर मास्क भी लगाया हुआ था।

शांति पूर्वक रहा चुनाव, नहीं मिली कोई बड़ी गड़बड़ी

जिला पंचायत सदस्य चुनाव के साथ ही ग्राम प्रधानों और बीडीसी मेंबर के लिए हुए चुनाव के दौरान जिले में शांति पूर्वक संपन्न हुआ। कहीं पर भी कोई बड़ी हिंसा या हंगामे की सूचना नहीं मिली है। मुरादनगर और रजापुर ब्लॉक में एक दो जगह बैलेट पेपर और अंधेरे को लेकर कहासुनी हुई हुई थी। वहीं देहात में कुछ जगह लोगों ने पहले ही मतदान किए जाने का आरोप लगाया। इन सब के बावजूद जिले का चुनाव शांतिपूर्वक रहा। एसएसपी अमित पाठक ने बताया है कि चुनाव शांतिपूर्वक संपन्न हुआ है। मतपेटियों को सुरक्षा व्यवस्था के सुपुर्द कर दिया गया है।

महिलाओं व बुजुर्गाें ने दिखाया लोकतंत्र में विश्वास

गाजियाबाद (करंट क्राइम)। त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में बृहस्पतिवार को लोकतंत्र के इस महापर्व में गांव की सरकार के लिए महिलाओं, बुजुर्गों और पहली बार मताधिकार करने वाले युवाओं में गजब का उत्साह देखने को मिला। जिला पंचायत सदस्य, बीडीसी मेंबर और ग्रांम प्रधानों के लिए बृहस्पतिवार को लगभग पांच लाख मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया। कोरोना का कहर और तेज गर्मी के बावजूद भी मतदान का ग्राफ मतदाताओं ने गिरने नहीं दिया और देर शाम तक जिले में कुल 74.33 प्रतिशत मतदान किया जा सका। जिसमें भोजपुर 76.88, मुरादनगर में सर्वाधिक 79.16, रजापुर में 68.16 और लोनी ब्लॉक में 71.50 मतदान का प्रतिशत रहा। सुबह से ही अलग-अलग मतदान केंद्रों में लंबी कतारें लग गई और शाम तक मतदान की रफ्तार मतदाताओं ने धीमी नहीं पड़ने दी। आईजी रेंज प्रवीण कुमार, एडीजी जोन राजीव सभरवाल, एसएसपी अमित पाठक, डीएम अजय शंकर पांडेय, चुनाव प्रभारी देवेंद्र सहित बड़े अधिकारियोें ने मतदान को शांतिपूर्वक संपन्न करवाया।

बीमार और दिव्यांग भी नहीं रहे पीछे

इंद्रगढ़ी मतदान केंद्र पर 85 साल के बुजुर्ग बुद्ध सिंह को उनके परिवारजन कार से मतदान कराने के लिए लेकर पहुंचे। उनकी तबीयत भी ठीक नहीं थी लेकिन उसके बावजूद उन्होंने मतदान कर अपना कर्तव्य निभाया। उधर दिव्यांग दीपक भी वोट डालने के लिए पहुंचे, उनको पैरों में दिक्कत है इसके बावजूद उन्होंने मताधिकार का प्रयोग किया। देहात के मसूरी इलाके में 60 साल की मेहरूम निशा चलने में असमर्थ थी लेकिन उन्होंने वोट डाला। उनको पैरों में दिक्कत थी वह अपनी मददगार के साथ मतदान करने के लिए पहुंची थीं।

जब सीओ और एसडीएम ने लगाई फटकार तो एजेंट ने हटवाए पानी के जार

भीषण गर्मी के बीच मतदान था इसको लेकर एजेंटों ने भी खूब जुगाड़ लगाया। फिरोजपुर नगला आटौर के प्राथमिक विद्यालय में सीओ अभय कुमार मिश्रा और एसडीएम विनय कुमार सिंह को शिकायत मिली कि एक एजेंट द्वारा यहां पानी के जार रखवा दिए गए हैं। इसकी सूचना पर दोनों ने मौके पर पहुंचे और एजेंटों को फटकार लगाई। इसके साथ ही यहां मौजूद पुलिसकर्मियों को भी सीओ ने आड़े हाथ लेते हुए माइक संभाला और उनको चेतावनी दी। इस दौरान एसडीएम विनय कुमार सिंह ने लोगों से सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने और अव्यवस्था ना करने की भी अपील की।

जब सीओ और एसडीएम ने लगाई फटकार तो एजेंट ने हटवाए पानी के जार

भीषण गर्मी के बीच मतदान था इसको लेकर एजेंटों ने भी खूब जुगाड़ लगाया। फिरोजपुर नगला आटौर के प्राथमिक विद्यालय में सीओ अभय कुमार मिश्रा और एसडीएम विनय कुमार सिंह को शिकायत मिली कि एक एजेंट द्वारा यहां पानी के जार रखवा दिए गए हैं। इसकी सूचना पर दोनों ने मौके पर पहुंचे और एजेंटों को फटकार लगाई। इसके साथ ही यहां मौजूद पुलिसकर्मियों को भी सीओ ने आड़े हाथ लेते हुए माइक संभाला और उनको चेतावनी दी। इस दौरान एसडीएम विनय कुमार सिंह ने लोगों से सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने और अव्यवस्था ना करने की भी अपील की।

जब चाचा ममरेज खान की मदद को आगे आई खाकी

अक्सर पुलिस का गलत चेहरा ही समाज के सामने नजर आता है लेकिन लोकतंत्र के महापर्व के दौरान कुशलिया गांव के एक बूथ पर उत्तर प्रदेश पुलिस के दरोगा विनीत मलिक की इंसानियत का चेहरा जिसने भी देखा उसने उनको दुआएं दी। दरअसल इस बूथ पर 102 साल के बुजुर्ग चाचा ममरेज खान वोट डालने के लिए आए थे। हाथ में छड़ी लेकर सफेद कुर्ते पजामे में ममरेज खान के कदम भले ही ठीक से ना पड़ पा रहे हो लेकिन वोट डालने के लिए उनके भीतर जो जज्बा और हौसला था उसको देख सभी ने उनको सलाम किया। उत्तर प्रदेश पुलिस के दरोगा विनीत मलिक ने चाचा को सहारा दिया और मतदान केंद्र तक उनके रिश्तेदार के साथ भीतर तक ले गए। मतदान कराया और फिर बाइक पर ले जाकर उनको मतदान केंद्र से विदा किया। इस नजारे को जिसने भी देखा उसने खाकी के इस कार्य की तारीफ की और कुछ ने तो विनीत मलिक की फोटो और वीडियो तक बना डाली।

ऐसे बदलता गया त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में वोटिंग प्रतिशत

सुबह 9 बजे तक का वोटिंग %
भोजपुर – 9.60
मुरादनगर – 10. 30
राजापुर – 10. 20
लोनी – 9. 62
कुल प्रतिशत – 9. 94

सुबह 11 बजे तक का वोटिंग %
भोजपुर – 27.28
मुरादनगर – 26.65
राजापुर – 19.25
लोनी – 28.84
कुल प्रतिशत – 24.82

दोपहर 1 बजे तक का वोटिंग %
भोजपुर – 40.80
मुरादनगर – 44.95
राजापुर – 34.70
लोनी – 40.38
कुल प्रतिशत – 40.23

दोपहर 3 बजे तक का वोटिंग %
भोजपुर – 54.48
मुरादनगर – 60.15
रजापुर – 46.24
लोनी – 51.92
कुल प्रतिशत – 53.39

शाम 5 बजे तक का वोटिंग %
भोजपुर – 68.08
मुरादनगर – 72.50
रजापुर – 57.90
लोनी – 63.00
कुल प्रतिशत – 65.76

शाम 6 बजे की फाइनल रिपोर्ट
भोजपुर – 76.88
मुरादनगर – 79.16
रजापुर – 68.16
लोनी – 71.50
कुल प्रतिशत – 74.33

बंद हो गई प्रत्याशियों की पोटली, 2 मई को आएगा परिणाम

जिला पंचायत सदस्य, बीडीसी मेंबर और ग्राम प्रधानों के लिए जिले के 70 संवेदनशील, 42 अति संवेदनशील और 199 सामान्य मतदान केंद्रों पर लोगों ने अपने मताधिकार का इस्तेमाल किया। अब सभी उम्मीदवारों के भाग्य का फैसला मतपेटियों में बंद हो गया है जो दो मई को मतगणना के बाद सामने आएगा। शांति पूर्वक एवं निष्पक्ष चुनाव कराने के लिए जिले को 22 जोन और 78 सेक्टरों में बांटा गया था। बृहस्पतिवार को पांच लाख से अधिक मतदाताओं ने 3302 प्रत्याशियों की किस्मत का फैसला करने के लिए अपने वोट की ताकत का इस्तेमाल किया है। त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में 110 प्रत्याशियों ने पहले ही बाजी मार ली है। जिसमें 22 क्षेत्र पंचायत चुनाव और 888 ग्राम पंचायत सदस्यों को निर्विरोध चुना जा चुका है। इन सीटों पर चुनाव लड़ने के लिए एक-एक प्रत्याशी ही चुनाव मैदान में उतरे थे।

 

Related posts

Current Crime
Ghaziabad No.1 Hindi News Portal
%d bloggers like this: