एमटीएनएल की केबल को चुराने चोरों ने सांसद की कोठी के बाहर खोद डाली सुरंग, 10 गिरफ्तार

0
1

नई दिल्ली (ईएमएस)। देश की राजधानी दिल्ली में बेखौफ चोरों के लुटियंस दिल्ली के इलाके में जमीन के नीचे दबी एमटीएनएल की महंगी केबल को चुराने के लिए सारी हदें पार कर दी। इस गिरोह के सदस्यों ने फिरोजशाह रोड पर स्थित एक सांसद की कोठी की बाउंड्री वॉल के ठीक नीचे गहरी सुरंग खोद डाली, ताकि उसमें से केबल को निकालकर चुरा ले जाएं, लेकिन उनकी किस्मत दगा दे गई। आधी रात को पट्रोलिंग पर निकले पुलिसवालों ने जब कोठी की बाउंड्री वॉल के पास हरकत होते देखी, तो वे अलर्ट हो गए। पुलिस को देखकर दो चोर भागने लगे। पुलिसवालों ने जब उन्हें पीछा करके पकड़ा, तो पता चला कि सांसद की कोठी के बाहर चार गहरे गड्ढे खोदकर 7-8 चोर उनमें छुपे हुए थे। इन लोगों को पकड़ने के लिए अतिरिक्त फोर्स बुलानी पड़ी। पुलिस को सामने देख चोर इधर-उधर भागने लगे। पुलिसवाले भी उनके पीछे दौड़ पड़े और काफी मशक्कत के बाद 10 लोगों को मौके से पकड़ने में कामयाब रहे, जबकि एक अन्य चोर बाद में किसी और जगह से पकड़ा गया। गिरोह का सरगना और इसके कुछ अन्य सदस्य अब भी फरार हैं।
नई दिल्ली के डीसीपी मधुर वर्मा के मुताबिक, बुधवार रात 2 बजे के बीच बाराखंभा रोड थाने की पुलिस की नाइट पट्रोलिंग टीम ने इस गिरोह को पकड़ा। ये लोग उस वक्त विंडसर प्लेस के गोल चक्कर के पास फिरोजशाह रोड पर स्थित कोठी नंबर-18 की बाउंड्री वॉल के बाहर सुरंग खोदकर केबल चुराने की कोशिश कर रहे थे। यह कोठी बिहार के अररिया से लोकसभा के सांसद सरफराज आलम की है। घटना के वक्त वहां कोई गार्ड तैनात नहीं था। कोठी के गेट के ठीक बगल में एक पुराना पुलिस बूथ भी बना हुआ है, जो अब बंद पड़ा रहता है। गिरफ्तार किए गए 11 आरोपियों की पहचान मनोज कुमार, अजय कुमार, प्रदीप, सत्य प्रकाश, मंगलू, किशन पाल, अरविंद, आलम मंसूरी, राज कुमार, राहुल कुमार ओर अनिल के रूप में हुई। ये लोग बदरपुर, सरिता विहार, मदनपुर खादर जैसे साउथ-ईस्ट दिल्ली के अलग-अलग इलाकों के रहने वाले हैं। इनकी उम्र 19 से लेकर 35 साल के बीच है। बाराखंभा रोड थाने में इन सभी के खिलाफ केस दर्ज कर लिया गया है।