Current Crime
उत्तर प्रदेश ग़ाजियाबाद दिल्ली एन.सी.आर

पूरे परिवार को ना मिला पीने का पानी और खुद ही झाड़ू लगाया

गाजियाबाद (करंट क्राइम)। क्वारंटाइन सेंटरों की कुव्यवस्था को लेकर लगातार सवाल उठ रहे हैं। यह सवाल ना केवल क्वारंटाइन किए गए लोगों की तरफ से बल्कि यहां पर तैनात मेडिकल स्टाफ भी सवाल उठा चुका है। अकेले गाजियाबाद जिले की बात नहीं है, यह हाल मेरठ से लेकर आगरा तक कई सेंटरों पर पाया गया है। एक बार फिर से एक ऐसा वीडियो सामने आया है जिसमें लोनी में बनाए गए क्वारंटाइन सेंटर की हालत नजर आ रही है। यह वीडियो लोनी के ही युवक ने बनाया है। वीडियो सामने आने के बाद इस मामले में जहां प्रशासनिक अधिकारियों ने अपनी बात रखी वहीं पीड़ित परिवार ने भी आरोप लगाए हैं। किस्सा लोनी में रहने वाले विजय सिंह और उनके परिवार से जुड़ा है। विजय सिंह का हॉलसेल का काम है और वह कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे। उनके परिवार में 12 लोग हैं। जिनमें उनके माता-पिता, दो बेटे, दो पुत्र वधु और पौत्र व पौत्री भी शामिल हैं। विजय सिंह को कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद उपचार के लिए अस्पताल भेजा गया और सुरक्षा की दृष्टि से उनके पूरे परिवार को क्वारंटाइन सेंटर भेजा गया। लोनी के आवास-विकास के आसरा मकानों में बने सेंटर में परिवार को भेजा गया। लेकिन जब विजय सिंह का परिवार वहां पहुंचा तो वहां इस कदर अव्यवस्था थी कि विजय सिंह के पुत्र ने वीडियो बनाया और उसे वायरल कर दिया। इस वीडियो में क्वारंटाइन हुआ परिवार खुद झाड़ू लगा रहा है। चारों तरफ गंदगी है। वीडियो बनाने वाले सतेंद्र प्रजापति ने बताया कि मेरे पापा को कोरोना पॉजिटिव पाया गया था, मैंने रात को फोन किया और सुबह मेरे पापा को अस्पताल भेजा गया। अस्पताल में उनका ट्रीटमेंट अच्छा चल रहा है। हम परिवार में 12 लोग हैं। प्रशासन यह कहता है कि सुविधाएं दी गई हैं लेकिन हमें पीने का पानी तक नहीं मिला। जिस मामले में हमें स्वच्छता बरतते हुए सावधान रहना है उस स्थान पर बेहद गंदगी थी। हमसे पहले कोई परिवार क्वारंटाइन रहा था और वह गया था, जिसके बाद हमें भेजा गया।
कमरे में कोई सैनिटाइजर नहीं था। यहां तक कि पीने के पानी का भी इंतजाम नहीं था। हमने खुद ही यहां झाड़ू लगाई और बिस्तर भी खुद ही मंगाया। कमरे में गर्मी के मौसम में पंखा तक नहीं था। हमारा पूरा परिवार जिसमें महिलाएं और छोटे बच्चे भी थे। सब गर्मी के मौसम में बिना पंखे के कमरे में रहे। जब अव्यवस्था देखकर रहा नहीं गया तब वीडियो बनाया है ताकि अधिकारी संज्ञान लें और हमारे बाद आने वाले अन्य लोगों को कम से कम खुद झाड़ू ना लगाना पड़े और उनके कमरे तो सैनिटाइज हो जाएं।

संबंधित अधिकारियों को दिए गए हैं व्यवस्था सुधारने के निर्देश: खालिद अंजुम


गाजियाबाद (करंट क्राइम)। लोनी में जब क्वारंटाइन किए गए युवक ने क्वारंटाइन सेंटर से ही वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर वायरल किया तो इस संबंध में करंट क्राइम ने लोनी एसडीएम खालिद अंजुम से बात की। उन्होंने कहा कि जो परिवार क्वारंटाइन किया गया है उनके पिता का कारोबार ऐसा था कि वह कई लोगों के संपर्क में आ गए। परिवार की सुरक्षा के लिए उन्हें क्वारंटाइन सेंटर भेजा गया था। आवास विकास के इस क्वारंटाइन सेंटर में पहले भी कई लोग क्वारंटाइन किए गए हैं। यहां सुविधाएं दी जा रही है, लेकिन जहां तक वीडियो बनाने वाले युवक द्वारा पंखा ना चलने की बात कही जा रही है तो इस संबंध में कोरोना एडवाइजरी है कि पंखे की हवा से कोरोना वायरस के फैलने का खतरा रहता है, इसलिए पंखा नहीं चलाया गया है। फिर भी प्रशासन की ओर से इस विषय पर ध्यान दिया जाएगा और संबंधित अधिकारियों को भी निर्देश दे दिए गए हैं कि वह क्वारंटाइन सेंटर की व्यवस्था में सुधार लाएं।

Related posts

Current Crime
Ghaziabad No.1 Hindi News Portal
%d bloggers like this: