मीडिया पर ट्रंप के हमले ‘लोकतंत्र के लिए सबसे बड़ा खतरा : रिटायर्ड एडमिरल मैकरेवन

0
4
File - In this Aug. 21, 2014, file photo, U.S. Navy Adm. William McRaven, the next chancellor of the University of Texas System, addresses the Texas Board of Regents, in Austin, Texas. Barely a month on the job, retired Adm. McRaven has staked out positions on guns, immigration and tuition rates that put him at odds with the Legislature's new conservative leadership on some of the thorniest issues of the session. (AP Photo/Eric Gay, File)

न्यूयार्क (ईएमएस)। अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के मीडिया पर बढ़ते हमलों को लेकर कई लोगों की कीखी प्रतिक्रिया आने लगी है। अमेरिका के रिटायर्ड एडमिरल विलयम मैकरेवन रविवार को अपने पूर्व में दिए गए उस बयान पर कायम रहे जिसमें उन्होंने मीडिया पर डोनाल्ड ट्रंप के हमलों को ‘लोकतंत्र के लिए सबसे बड़ा खतरा’ बताया था। रविवार को डोनाल्ड ट्रंप ने एक इंटरव्यू में विलयम मैकरेवन को ‘हिलेरी क्लिंटन का समर्थक’ बताया था। वहीं ओसामा बिन लादेन को खत्म करने के अभियान में शामिल रहे मैकरेवन ने कहा, मैंने हिलेरी क्लिंटन या किसी अन्य का समर्थन नहीं किया। मैं राष्ट्रपति ओबामा एवं राष्ट्रपति जॉर्ज डब्ल्यू बुश का प्रशंसक हूं, दोनों के लिए मैंने काम किया है। मैं राजनीतिक पार्टियों की परवाह किए बिना सभी राष्ट्रपतियों की प्रशंसा करता हूं, जिन्होंने इस पद की गरिमा बनाए रखी और मुश्किल समय में देश को एक बनाए रखा। ट्रंप पर पिछले साल दिए बयान का हवाला देते हुए उन्होंने कहा, मैं अपने बयान पर कायम हूं कि मीडिया पर राष्ट्रपति के हमले लोकतंत्र के लिए सबसे बड़ा खतरा हैं। जब आप फ्री प्रेस के लिए लोगों के अधिकार और फ्रीडम ऑफ स्पीच को कम करके आंकते हो तब आप संविधान और इसके मूल्यों को धमकी दे रहे होते हैं।
मैकरेवन का यह बयान ट्रंप के उस बयान के बाद आया है, जिसमें उन्होंने मैकरेवन के बारे में कुछ सुना ही नहीं और ओसमा बिन लादेन को पहले खत्म न करने के लिए सेना की आलोचना की। दरअसल रविवार को प्रसारित इंटरव्यू में जैसे ही पत्रकार ने मैकरेवन का जिक्र किया तो ट्रंप ने उन्हें हिलेरी का समर्थक बता डाला और कहा कि क्या ये अच्छा नहीं होता अगर हम और पहले ओसमा बिन लादेन को खत्म कर देते तो? बता दें कि इस साल अगस्त में एक पोस्ट के जरिए मैकरेवन ने ट्रंप की आलोचना करते हुए कहा था कि उन्होंने हमें अपने बच्चों के सामने शर्मिंदा किया है, दुनिया में अमेरिका का अपमान किया है और इससे भी खराब एक राष्ट्र के तौर पर अमेरिका को बांटने का काम किया है।