Breaking News
Home / अन्य ख़बरें / पुलिस प्रशासन ने नहीं लगने दिया संडे बाजार

पुलिस प्रशासन ने नहीं लगने दिया संडे बाजार

थोड़ी देर विरोध के बाद वापस लौट गये नवयुग मार्केट से पैठ कारोबारी
करंट क्राइम

गाजियाबाद। पैठ बाजार संघर्ष समिति द्वारा रविवार को नवयुग मार्केट में पैठ लगाने का ऐलान केवल ऐलान बन कर रह गया। भाजपा अनुसूचित जाति मोर्चा के संयोजक अशोक संत ने पैठ कारोबारियों के साथ ऐलान किया था कि रविवार को नवयुग मार्केट में बाजार लगाया जाएगा, वहीं इस मामले में नया मोड़ तब आ गया था जब स्थानीय पार्षद राजीव शर्मा ने भी ऐलान कर दिया था कि किसी भी सूरत में नवयुग मार्केट में संडे बाजार नहीं लगने दिया जाएगा। माना जा रहा था कि रविवार को स्थानीय व्यापारियों और पैठ कारोबारियों के बीच संघर्ष की स्थिति आ सकती है लेकिन स्थानीय प्रशासन और पुलिस के अधिकारियों ने पहले ही स्थिति को अपनी रणनीति से काबू कर लिया। नवयुग मार्केट रविवार की सुबह ही पुलिस ने सभी एंट्री प्वाइंट पर बैरीकैटिंग लगा दी थी और पुलिस कर्मी तैनात कर नवयुग मार्केट में किसी भी मालवाहक वाहन के घुसने पर पाबंदी लगा दी थी। वहीं दूसरी तरफ जब स्थानी व्यापारियों को यह पता चला कि पैठ कारोबारी संडे बाजार लगाने के लिए आ रहे हैं तो वह भी 100 से 150 की संख्या में इकट्ठा होकर इलाहाबाद बैंक के आगे डट गए। वहीं पैठ कारोबारियों के साथ भाजपा नेता अशोक संत पहुंचे और अम्बेडकर पार्क में बैठ गए। जब पैठ कारोबारियों ने नवयुग मार्केट के दो रास्तों पर बाजार लगाने और अन्य रास्तों पर खोला रखने की बात कहते हुए बाजार लगाने की मांग रखी तो सिटी मजिस्ट्रेट संतोष बहादुर सिंह और सीओ प्रथम मनीषा सिंह ने कोर्ट के आदेश का हवाला देते हुए पैठ कारोबारियों को रोक दिया। पुलिस और प्रशासन के अधिकारियों ने कहा कि यह बाजार पहले भी कोर्ट के आदेश पर बंद किया गया था, यदि कोर्ट ने बाजार लगाने के आदेश दिये हैं तो आप आदेश की कॉपी दिखाएं अन्यथा यथास्थिति बरकरार रखी जाएगी। इसके बाद पुलिस चौकी पर पुलिस और प्रशासन के अधिकारी वार्ता की जिसमें स्थानीय पार्षद राजीव शर्मा क्षेत्रवासियों की ओर से और सिहानी गेट बाजार मंडल के अध्यक्ष अनुराग गोयल व्यापारियों की ओर से शामिल हुए। इसके बाद लगभग एक घंटे तक अम्बेडकर पार्क में बैठने के बाद पैठ कारोबारी भी लौट गए। पुलिस प्रशासन के अधिकारियों ने स्पष्ट कर दिया कि किसी को भी यहां कानून हाथ में लेने की इजाजत नहीं दी जाएगी।

Check Also

मैट्रो विस्तीकरण के संशोधित डीपीआर के फंडिंग पैटर्न को लेकर हुआ विचार विमर्श

Share this on WhatsAppगाजियाबाद (करंट क्राइम)। जीडीए उपाध्यक्ष के कार्यालय में मैट्रो रेल विस्तीकरण हेतु …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *