Current Crime
स्पोर्ट्स

भारत और न्यूजीलैंड के खिलाड़ी आईसीसी से खफा, बोले- सभी एक चैंपियन चाहते थे

साउथैम्पटन। वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल में बारिश के कारण पहले और चौथे दिन एक भी गेंद नहीं फेंकी जा सकी, जिससे खेल के रोमांच में कमी आई। खेल के हाल देख कर क्रकेट के फैंस परेशान हैं। साउथैम्पटन में बारिश के कारण अगर मैच का रिजल्ट नहीं निकलता है तो दोनों टीमों को संयुक्त रूप से विजेता घोषित किया जाएगा, लेकिन इससे पूर्व क्रिकेटर खुश नहीं हैं।
पूर्व भारतीय बल्लेबाज वीवीएस लक्ष्मण ने स्टार स्पोर्ट्स पर कहा, यह फैंस के लिए बेहद दुखद है। मुझे आईसीसी के नियम सही नहीं लगे। सभी ने सब कुछ किया। आप एक चैंपियन चाहते थे। उन्होंने कहा कि इतना समय होने के बाद मैं उम्मीद कर रहा था कि 5 दिन में हर दिन के 90 ओवर के हिसाब से 450 ओवर फेंक जा सकेंगे। मैं आईसीसी से यही उम्मीद कर रहा था। सभी उत्साहित थे। एक दिन का रिजर्व डे भी रखा गया था, लेकिन मुझे नहीं लगता है कि रिजर्व डे के बाद भी खेल पूरा हो सकेगा। दूसरी ओर न्यूजीलैंड के पूर्व तेज गेंदबाज शेन बॉन्ड ने कहा, दोनों टीमें जीत के लिए खेलती हैं। पिच पर गेंदबाजों के लिए बहुत कुछ था। ऐसे में सिर्फ 3 से 4 दिन में हमें परिणाम देखने को मिल सकता है। उन्होंने कहा कि मैं वीवीएस लक्ष्मण की बात से सहमत हूं कि मैं पूरे 450 ओवर और एक टॉप टीम का देखना चाहता हूं। वहीं टीम इंडिया के पूर्व बैटिंग कोच संजय बांगड़ ने कहा कि रिजल्ट निकलना जरूरी था। अगर टीम इंडिया न्यूजीलैंड को 150-160 रन का लक्ष्य देती है तो चौथी पारी में उसके लिए यह आसान नहीं होगा। वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के लिए 23 जून को एक रिजर्व डे भी रखा गया है। इसका उपयोग तभी होगा जबकि पांच दिन में खेल के पूरे ओवर नहीं हो सकेंगे। अगर मैच ड्रॉ या टाई होता है तो दोनों टीमों को संयुक्त विजेता घोषित किया जाएगा। अब तक सिर्फ एक बार 2002 में भारत और श्रीलंका के बीच हुए चैंपियंस ट्रॉफी के फाइनल में संयुक्त विजेता देखने को मिला था।

Related posts

Current Crime
Ghaziabad No.1 Hindi News Portal
%d bloggers like this: