इमरान खान का कबुलनामा, पाकिस्तान में रची गई मुंबई हमले की साजिश, दोषियों को दूंगा सजा सपा बोली- योगी आदित्यनाथ यूपी के सबसे अयोग्य मुख्यमंत्री करंट से समलैंगिकता का इलाज करने वाले चिकित्सक को कोर्ट ने किया तलब फिल्‍म निर्माता प्रेरणा अरोरा गिरफ्तार शरद यादव ने वसुंधरा के बारे में दिए गए बयान पर खेद जताया 21 साल बाद राजकुमारी दीया ने मांगा तलाक दिल्ली-एनसीआर: दो हफ्तों से हवा में कोई सुधार नहीं प्रवासी भारतीय देश की विकास गाथा के दूत हैं: गृह राज्‍यमंत्री रिजिजू रेप पीड़िता के इलाज के एवज में 9 लाख का बिल निजी अस्पतालों में होगा ‘आयुष्मान’ के दो तिहाई मरीजों का उपचार
Home / अन्य ख़बरें / लेखपाल संघ ने दिया धरना, दी चेतावनी

लेखपाल संघ ने दिया धरना, दी चेतावनी

गाजियाबाद (करंट क्राइम)। आंदोलन के तीसरे चरण में उप्र लेखपाल संघ ने अपनी लंबित मांगों को लेकर कार्य बहिष्कार कर जनपद में समस्त लेखपालों ने सोमवार को जिला मुख्यालय पर अनिश्चितकालीन धरना प्रदर्शन दे रहे हैं।
संघ के जिला सचिव किरणपाल सिंह गौतम ने यह जानकारी देते हुए बताया कि सरकार ने मांगों के निस्तारण करने की बजाय एस्मा के तहत दबाव बनाकर तानाशाही का परिचय दिया है। संघ ने सरकार के अड़ियल रवैये की निंदा की है। साथ ही यह निर्णय लिया गया कि यदि आंदोलनकारी लेखपालों के विरुद्ध उत्पीड़नात्मक कार्यवाही की गई तो प्रतिक्रियास्वरूप कोई कठोर निर्णय लेने का संघ बाध्य होगा। इस अवसर पर सिद्धार्थ कौशिक, किरणपाल गौतम, कोमल प्रसाद गौड, राम सिंह बिरदी, संजय कुमार, ललित बिहारी शर्मा, सुबोध शर्मा, राहुल राठी,राम अवतार शर्मा, राकेश शर्मा, रूपचन्द,भूपेन्द्र शर्मा, ओमनारायण भटनागर, ब्र्रजपाल सिंह,सुबोध कुमार, सुधीर कुमार, धर्मेन्द्र,
अशोक कौशिक, मनोज कुमार, बनवारी लाल, गजेन्द्र सिंह, रमेश वर्मा, कृष्णपाल शर्मा आदि जनपद
के समस्त लेखपाल धरने पर उपस्थित रहे।

Check Also

इलेक्ट्रिकल-ऑटोमेशन व्यवसाय के बारे में प्रतिस्पर्धा आयोग ने लोगों से मांगी राय

नई दिल्ली (ईएमएस)। भारतीय प्रतिस्पर्धा आयोग (सीसीए) ने 16 जुलाई, 2018 को लारसन एंड टूब्रो …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *