कांग्रेस के झूठे वायदों पर जनता को भरोसा नहीं : नरेंद्र मोदी प्रधानमंत्री ने लालपुर में विशाल आमसभा को किया संबोधित प्रत्येक मतदाता से मतदान करने की जा रही अपील जीका बुखार से बचाव के लिए सावधानी बरतें चिल्ड्रन होम में गार्ड द्वारा बच्चों नशीली दवा देने के मामले में हाईकोर्ट ने शासन से मांगा जवाब पीएम मोदी का खुला चैलेंज पहले 4 पीढ़ियों का हिसाब दो, मैं तो 4 साल का हिसाब दे रहा हूं इमली के बीज में छिपा है चिकनगुनिया का इलाज: आईआईटी वैज्ञानिक गेहूं की बुआई के लिए खेतों में पानी ना होने से संकट में 3 हजार किसान bhopal क्राईम ब्रांच कार्यालय के सामने से कार चोरी तेज रफ्तार कार ने बाईक को मारी टक्कर, एक की मौत दुसरा घायल सिग्नेचर ब्रिज पर निर्वस्त्र होने का वीडियो वायरल
Home / राज्य / उत्तराखंड / गोल्डन फारेस्ट व अन्य स्थानांतरित मामलों में सुनवाई एडीएम कोर्ट में होगी -दोनों पक्षकारों के हाजिर न होने पर एकपक्षीय निर्णय होंगे

गोल्डन फारेस्ट व अन्य स्थानांतरित मामलों में सुनवाई एडीएम कोर्ट में होगी -दोनों पक्षकारों के हाजिर न होने पर एकपक्षीय निर्णय होंगे

देहरादून(ईएमएस)। अपर जिलाधिकारी प्रशासन अरविन्द पाण्डेय ने अवगत कराया है कि कलक्टर न्यायालय देहरादून में वाद हस्तान्तरित होकर प्राप्त हुए हैं, जिनमें रेस्टोरेशनकर्ता/आपत्तिकर्ता हाजिर नही हो रहे हैं। उन्होने सूचित किया है कि गोल्डन फॉरेस्ट क0 के मुख्य प्रवक्ता एवं रेस्टोरेशनकर्ता/आपत्तिकर्ता निर्धारित तिथि को प्रातः 11 बजे न्यायालय अपर जिलाधिकारी प्रशासन में स्वयं या अधिवक्ता के माध्यम से वादों के सम्बन्ध में आपत्ति/साक्ष्य प्रस्तुत करें। उन्होनें बताया कि मौजा झाझरा के अन्तर्गत 9 नवम्बर 2018 को वाद संख्या 53/17-18 पक्षकार सरकार बनाम विनोद कुमार, वाद संख्या 46/17-18 सरकार बनाम कल्पना माथुर, वाद संख्या 32/17-18 सरकार बनाम प्रमोद शर्मा, वाद संख्या 01/17-18 आशारानी बनाम सरकार, वाद संख्या 25/17-18 सरकार बनाम सुभाष चन्द्र आदि, वाद संख्या 97/17-18 सरकार बनाम गुरूचरण आदि, वाद संख्या 99/17-18 सरकार बनाम शेर सिंह, वाद संख्या 27/17-18 सरकार बनाम सुरेन्द्र सिंह आदि, वाद संख्या 26/17-18 सरकार बनाम राम किशन आदि। मौजा सुद्धोवाला के अन्तर्गत 9 नवम्बर 2018 को वाद संख्या 68/17-18 सरकार बनाम मधु जोशी, वाद संख्या 55/17-18 सरकार बनाम ओम प्रकाश, वाद संख्या 66/17-18 सरकार बनाम सुमित शर्मा आदि, वाद संख्या 40/17-18 सरकार बनाम गुलफाम आदि, वाद संख्या 45/17-18 सरकार बनाम जीवा प्रापर्टीज, मौजा ई0हो0टा0 के अन्तर्गत 9 नवम्बर 2018 को वाद संख्या 37/17-18 एवं 59/17-18 सरकार बनाम फूल सिंह, वाद संख्या 54/17-18 सरकार बनाम नरेश भाटिया, वाद संख्या 39/17-18 गणेशी आदि बनाम सरकार, वाद संख्या 52/17-18 सरकार बनाम लाल सिंह आदि, वाद संख्या 95/17-18 लीला राणा बनाम सरकार, वाद संख्या 104/17-18 सरकार बनाम सुमन कुडियाल, वाद संख्या 101/17-18 सरकार बनाम शान्ति नबियाल, वाद संख्या 06/17-18 सरकार बनाम दर्शन लाल, वाद संख्या 24/17-18 सरकार बनाम आनन्द डेनियल, मौजा ई0हो0टा0 के अन्तर्गत 16 नवम्बर 2018 को वाद संख्या 92/17-18सरकार बनाम अरूण गुप्ता आदि, वाद संख्या 19/17-18 सरकार बनाम सुमित्रा देवी, वाद संख्या 102/17-18 सरकार बनाम जशोदा देवी आदि, वाद संख्या 20/17-18 सरकार बनाम चम्पा देवी, मौजा लखनवालाखास के अन्तर्गत 9 नवम्बर 2018 को वाद संख्या 51/17-18 सरकार बनाम अली हसन आदि, मौजा लखनवाला के अन्तर्गत 9 नवम्बर 2018 को वाद संख्या 58/17-18 लतीफ आदि बनाम सरकार, मौजा एटनबाग के अन्तर्गत 9 नवम्बर 2018 को वाद संख्या 38/17-18 सरकार बनाम विजेन्द्र पाल आदि, वाद संख्या 18/17-18 सरकार बनाम गो0फो0/सुरेन्द्र पाल हाण्डा, मौजा एटनबाग के अन्तर्गत 16 नवम्बर 2018 को वाद संख्या 100/17-18 सरकार बनाम तपस कुमार आदि, मौजा से0हो0टा0 के अन्तर्गत 9 नवम्बर 2018 को वाद संख्या 63/17-18 सरकार बनाम मोती सिंह, वाद संख्या 12/17-18 सरकार बनाम रामप्रसाद, मौजा से0हो0टा0 के अन्तर्गत 16 नवम्बर 2018 को वाद संख्या 96/17-18 चुन्नी लाल बनाम सरकार, मौजा ढकरानी के अन्तर्गत 9 नवम्बर 2018 को वाद संख्या 61/17-18 सरकार बनाम अब्दुल वहीद आदि, वाद संख्या 105/17-18 सरकार बनाम जीशन आदि, वाद संख्या 36/17-18 विरेन्द्र सिंह बनाम सरकार, मौजा रामपुरकला के अन्तर्गत 9 नवम्बर 2018 को वाद संख्या 62/17-18 सरकार बनाम गो0फो0/जहीर अहमद, मौजा मिस्रासपट्टी के अन्तर्गत 16 नवम्बर 2018 को वाद संख्या 07/17-18 सरकार बनाम पदम सिंह, मौजा कांसवाली कोठरी के अन्तर्गत 16 नवम्बर 2018 को वाद संख्या 29/17-18 सरकार बनाम अवतार सिंह, मौजा शीशमबाड़ा के अन्तर्गत 9 नवम्बर 2018 को वाद संख्या 91/17-18 दिगम्बरी देवी आदि बनाम सरकार, मौजा शाहपुर कल्याणपुर के अन्तर्गत 9 नवम्बर 2018 को वाद संख्या 94/17-18 सरकार बनाम तितरी देवी, मौजा मिर्जापुर ढालीपुर के अन्तर्गत 9 नवम्बर 2018 को वाद संख्या 98/17-18 सरकार बनाम राज्जो देवी। अपर जिलाधिकारी प्रशासन ने पक्षकारों को सूचित किया है कि यदि पक्षकार न्यायालय में उपस्थित नही हुये तो यह समझा जायेगा कि उक्त वाद के सम्बन्ध में कुछ नही कहना है, तद्नुसार वाद का निस्तारण एक पक्षीय रूप में किया जायेगा।

Check Also

इमली के बीज में छिपा है चिकनगुनिया का इलाज: आईआईटी वैज्ञानिक

रुड़की (ईएमएस)। आईआईटी रुड़की के जैव प्रौद्योगिकी विभाग के वैज्ञानिकों की टीम ने एक शोध …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *