Current Crime
उत्तर प्रदेश राज्य

धरने पर बैठा उन्नाव रेप पीड़िता का परिवार, कहा चाचा को पैरोल तक नहीं होगी मृतकों की दाह क्रिया

लखनऊ (ईएमएस)। रायबरेली में हुए हादसे में उन्नाव रेप पीड़िता की चाची और मौसी की मौत उसका परिवार अब धरने पर बैठ गया है। लखनऊ के केजीएमयू के बाहर धरने पर बैठी पीड़िता की बहन ने कहा जब तक उनके चाचा को पैरोल नहीं दी जाएगी, वे लोग परिवार के मृतकों का दाह संस्कार नहीं करेंगे। उधर, लखनऊ में केजीएमसी ट्रामा सेंटर में उन्नाव रेप पीड़िता की हालत गंभीर बनी हुई है। उसके फेफड़े में गहरी चोटें लगी हैं। इसके अलावा उसकी गले की हड्डी, पसलियां और हाथ-पैरों की हड्डिया टूट गई हैं। बेहद गंभीर स्थिति में उसे वेंटीलेटर पर रखा गया है।
परिवार काफी दिनों से उन्हें पैरोल पर छोड़े जाने की मांग कर रहा था, जिसे जिला प्रशासन ने यह कहते हुए ठुकरा दिया कि उन्हें पैरोल देने का कोई अधिकार नहीं है। उन्नाव रेप पीड़िता का हादसा 28 जुलाई को रायबरेली जाते समय रास्ते में हुआ था। हादसे में पीड़िता की चाची और मौसी की मौत हो गई थी जबकि पीड़िता और उसके वकील गंभीर रुप से घायल हो गए थे। पोस्टमॉर्टम होने के बाद मृतकों के शव सोमवार को ही परिजनों को सौंप दिए गए थे, लेकिन परिजन दाह संस्कार के लिए राजी नहीं हैं।
उल्लेखनीय है कि रेप पीड़िता के चाचा को मारपीट के एक मामले में कुछ महीने पहले ही सजा सुनाई गई है। कुछ मामलों के ट्रायल जारी हैं। पीड़िता की बहन ने कहा कि जब तक उन्हें पैरोल पर रिहा नहीं किया जाता तब तक वे लोग मृतकों का दाह संस्कार नहीं करेंगे। पीड़ितों के समर्थन में कई अन्य लोग भी धरने पर बैठ गए हैं। केजीएमयू के ट्रॉमा सेंटर के बाहर सैकड़ों लोग मौजूद हैं। पीड़िता की चाची और मौसी के शव पोस्टमॉर्टम के बाद लखनऊ के मुर्दाघर में रखे गए हैं। दाह संस्कार पीड़िता के चाचा को ही करना है, जो फिलहाल रायबरेली जेल में बंद हैं।
पैरोल के लिए सोमवार दोपहर उन्नाव के जिला मैजिस्ट्रेट देवेंद्र पांडेय की अदालत में अर्जी दाखिल की गई थी। जिला मैजिस्ट्रेट ने कहा कि पीड़िता के चाचा रायबरेली जेल में बंद हैं। उन्हें सजा हो चुकी है और सजा के खिलाफ हाईकोर्ट में अपील की गई है। सरकारी आदेश (जीओ) के तहत अपील वाले केसों में पैरोल देने का प्रावधान नहीं है, इसलिए वह पैरोल नहीं दे सकते हैं।

Related posts

Current Crime
Ghaziabad No.1 Hindi News Portal
%d bloggers like this: