कांग्रेस के झूठे वायदों पर जनता को भरोसा नहीं : नरेंद्र मोदी प्रधानमंत्री ने लालपुर में विशाल आमसभा को किया संबोधित प्रत्येक मतदाता से मतदान करने की जा रही अपील जीका बुखार से बचाव के लिए सावधानी बरतें चिल्ड्रन होम में गार्ड द्वारा बच्चों नशीली दवा देने के मामले में हाईकोर्ट ने शासन से मांगा जवाब पीएम मोदी का खुला चैलेंज पहले 4 पीढ़ियों का हिसाब दो, मैं तो 4 साल का हिसाब दे रहा हूं इमली के बीज में छिपा है चिकनगुनिया का इलाज: आईआईटी वैज्ञानिक गेहूं की बुआई के लिए खेतों में पानी ना होने से संकट में 3 हजार किसान bhopal क्राईम ब्रांच कार्यालय के सामने से कार चोरी तेज रफ्तार कार ने बाईक को मारी टक्कर, एक की मौत दुसरा घायल सिग्नेचर ब्रिज पर निर्वस्त्र होने का वीडियो वायरल
Home / अन्य ख़बरें / भाजपा का यूथ तो अध्यक्ष बनने के लिये त्रस्तऔर अखिलेश ने टटोल भी ली अपने यूथ की नब्ज

भाजपा का यूथ तो अध्यक्ष बनने के लिये त्रस्तऔर अखिलेश ने टटोल भी ली अपने यूथ की नब्ज

गाजियाबाद (करंट क्राइम)। राजनीति में यूथ की अहम भूमिका होती है। कोई भी सियासी दल जब अपनी चुनावी रणनीति का आगाज करता है तो सबसे पहले बूथ आता है और बूथ की मजबूती यूथ के बिना अधूरी मानी जाती है। एक बूथ बीस यूथ भाजपा में तो बसपा में एक बूथ पर 23 यूथ का नारा चल रहा है। राजनीति की सबसे मजबूत कड़ी यूथ होता है तभी तो यूथ नेताओं को मोर्चे में राष्ट्रीय अध्यक्ष तक की जिम्मेदारी दी जाती है। कांग्रेस एक जमाने में यूथ को लेकर इतनी एक्टिव थी कि कालेज के कैंपस से लेकर समाज के यूथ तक को वह संगठन से जोड़कर चलती थी। कांग्रेस में एनएसयूआई,यूथ कांग्रेस का जलवा हुआ करता था। भाजपा में यूथ मोर्चा है तो सपा में यूथ की ही चार विंग हैं। सपा यूथ ब्रिगेड,लोहिया वाहिनी,युवजन सभा और सपा छात्र सभा हैं। बसपा में भी यूथ को मौका मिल रहा है और यहां कुलदीप ओके,रवि जाटव, मन्नवर चौधरी जैसे यूथ नेताओं को संगठन में पद भी मिला है और बूथ की भी जिम्मेदारी सौंपी गई है। रालोद में भी अब कमान जयंत चौधरी के हाथ में आने के बाद नये चेहरों को मौका मिला है।
भाजपा के यूथ इन दिनों नहीं कर रहे फील गुड
यूथ राजनीति की बात करें तो भाजपा के यूथ इन दिनों सरकार के बाद भी फील गुड नहीं कर रहे। भाजपा का यूथ खेमा तो तीन साल से इस बात का इंतजार कर रहा है कि कब उनका मोर्चा घोषित होगा। भाजपा यूथ मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष के साथ लखनऊ में पुलिस ने क्या किया सबने देखा। गाजियाबाद में तो उसके यूथ नेता तीन साल से अध्यक्ष इन वेटिंग मोड में चल रहे हैं। अब तो पद मांगते-मांगते चेहरे ही बदल गये हैं। कोई पद मांगते-मांगते आईटी प्रकोष्ठ के पद से ही सतुंष्ट हो गया तो किसी ने ओबीसी मोर्चा वाली अध्यक्षी से ही सब्र कर लिया। अब तो यूथ वालों की दाढ़ी के बाल भी कहीं- कहीं सफेद दिखने लगे हैं। कुछ के तीन साल पहले तक दिखते सपाट पेट अब बाहर लटके दिखने लगे हैं। कोई यूथ राजनीति करते-करते जेल तक हो आया तो किसी ने दस से पांच की नौकरी करते-करते भी दावेदारी की। इंतजार की इंतहा हो गई लेकिन पद की घोषणा नहीं हुई। उम्र का तीसरा दशक पार कर चुके नेता अब तीन साल से इंतजार ही कर रहे हैं।
अखिलेश के टिप्स से खुश हैं सपा के यूथ नेता
सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव भविष्य की राष्ट्रीय राजनीति के बड़े चेहरों में शुमार किये जाते हैं। उन्हें पता है कि फ्यूचर पॉलिटिक्स की कुंजी यूथ के हाथ में है। वह अपनी पार्टी के यूथ नेताओं को साथ लेकर चल रहे हैं। सपा प्रदेश कार्यालय पर सप्ताह के सातों दिन यूथ के साथ उनके राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव मुलाकात कर रहे हैं और उनके कान में सियासी मंत्र फूंक रहे हैं। दिन के हिसाब से रोजाना मीटिंग ले रहे हैं।
इन मीटिंगों में पूरे प्रदेश के सपा यूथ अध्यक्षों के साथ अखिलेश यादव पूरी तरह दोस्ताना माहौल में हैं। उन्हें निमंत्रण भी दिया जाता है और बाकायदा बात कर रहे हैं, उनके साथ राष्ट्रीय अध्यक्ष फोटो भी करा रहे हैं और बातचीत के दौर में कंधे पर हाथ रखकर फील कराते हैं कि डोंट वरी मैं हूं ना। सूत्र बताते हैं कि यूथ के साथ रणनीति तैयार करने में जुटी सपा इन मीटिंगों में टिप्स दे रही है कि चुनावी रण में किस तरह से भाजपा का मुकाबला करना है। सोशल मीडिया पर पार्टी के पक्ष को किस तरह से रखना है तो यह भी बताया जा रहा है कि विषयो पर मजबूत पकड़ बनाने के लिये नेताओं को क्या करना है।
बूथ पर जगा दिया अखिलेश ने सपा का यूथ

सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने अपने यूथ नेताओं को ऊर्जा दी है। सपा युवजन सभा के जिलाध्यक्ष संतोष यादव, मनोज पंडित,विकं्रात पंडित,उम्मेद पहलवान सहित कई यूथ नेताओं से अखिलेश ने जब अपने पास बिठाकर उनके मन की बात की तो यूथ नेता ऊर्जा से लबरेज होकर काम कर रहे हैं। सपा छात्र सभा की मीटिंग में यूथ नेताओं की हैरानी का ठिकाना उस वक्त नहीं रहा जब उनके राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने मीटिंग में विक्की सिंह का नाम लिया और अहसास करा दिया कि उन्हें गाजियाबाद वाले हर यूथ नेता का नाम भी पता है और वह उसे जानते भी हैं।

Check Also

खशोगी हत्या मामले में अमेरिका ने 17 सऊदी नागरिकों पर प्रतिबंध लगाया

वाशिंगटन (ईएमएस)। अमेरिकी पत्रकार जमाल खशोगी की नृशंस हत्या में संलिप्त सऊदी अरब के 17 …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *