टीम को युवा स्ट्राइकर की जरुरत : कांस्टेनटाइन

0
53

नई दिल्ली (ईएमएस)। भारतीय फुटबॉल टीम के मुख्य कोच स्टीफन कांस्टेनटाइन ने कहा है कि संयुक्त अरब अमीरात में जोर्डन के खिलाफ होने वाले एएफसी एशियाई कप में कप्तान सुनील छेत्री का नहीं खेलना भारतीय टीम के लिए एक बड़ा झटका है क्योंकि कोई भी खिलाड़ी छेत्री की जगह नहीं ले सकता। कांस्टेनटाइन ने कहा कि इसके बावजूद भारतीय टीम को किसी और युवा स्ट्राइकर की खोज जरुर करनी होगी। वह शानदार प्रतिभाशाली खिलाड़ी है और मेरे साथ पिछले चार वर्षों में मेरे लिये सबसे ज्यादा गोल किये हैं। मुझे नहीं लगता कि उनकी जगह कोई ले सकता है। लेकिन किसी युवा खिलाड़ी को आगे आना होगा जिससे वह अपना अनुभव युवा खिलाड़ी के साथ बांट सके। कांस्टेनटाइन आई लीग फुटबाल टूर्नामेंट और इंडियन सुपर लीग में विदेशी स्ट्राइकरों को खिलाने से भी खुश नहीं हैं। उनका मानना है कि भारत को अच्छे स्ट्राइकर चाहिए तो इन विदेशी फारवर्ड को खिलाना बंद कर देना चाहिए।वह 36 साल का हो गया है, कभी न कभी वह रूकेगा। हमेशा वह टीम के साथ नहीं रह सकता। देश में स्ट्राइकरों की कमी है, भले ही आई लीग हो या इंडियन सुपर लीग, सभी विदेशी स्ट्राइकरों को खिला रहे हैं। ’’ कांस्टेनटाइन ने सीनियर खिलाड़ियों से मतभेदों की खबरों को सिरे से खारिज करते हुए कहा कि यह आधारहीन बातें हैं। सभी वरिष्ठ खिलाड़ियों को अपनी जिम्मेदारी संमझनी होगी।