टाटा हॉर्नबिल माइक्रो-एसयूवी से जिनेवा में उठेगा पर्दा

0
432

नई दिल्ली (ईएमएस)। भारतीय कार मार्केट में माइक्रो-एसयूवी सेगमेंट तेजी से बढ़ रहा है। इस ध्यान में रखकर ज्यादातर कंपनियां इस सेगमेंट में कारें ला रही हैं। इस सेगमेंट में टाटा मोटर भी उतरने वाली है। कंपनी टाटा हॉर्नबिल कोड नाम वाली माइक्रो-एसयूवी भारत में लाएगी। मार्च में होने वाले जिनेवा मोटर शो में इस एसयूवी का कॉन्सेप्ट वर्जन पेश किया जाएगा। टाटा हॉर्नबिल कंपनी की नेक्सॉन एसयूवी के नीचे के सेगमेंट में लांच की जाएगी। मार्केट में इसकी सीधी टक्कर महिंद्रा केयूवी 100, मारुति फ्यूचर एस कॉन्सेप्ट के प्रॉडक्शन वर्जन और ह्यूंदै की 2023 में आने वाली माइक्रो-एसयूवी से होगी। रिपोर्ट्स के मुताबिक, जिनेवा मोटर शो में टाटा मोटर्स पांच नए प्रॉडक्ट प्रदर्शित करेगी, जिसमें टाटा हॉर्नबिल सुर्खियों में होगी।
हॉर्नबिल कंपनी के अल्फा मॉड्यूलर प्लैटफॉर्म पर बनाई जाएगी। इसी प्लैटफॉर्म का इस्तेमाल टाटा की आने वाली प्रीमियम हैचबैक 45 एक्स कॉन्सेप्ट के लिए भी किया जाएगा। हालांकि,माइक्रो-एसयूवी का वीलबेस 50एमएम कम होगा। इस नई माइक्रो-एसयूवी में बड़े वील्ज, फ्लोटिंग रूफ डिजाइन और टाटा की सिग्नेचर ग्रिल देखने को मिल सकती है। अल्फा प्लैटफॉर्म को टाटा के 1.2-लीटर,3-सिलिंडर रेवोट्रॉन पेट्रोल इंजन के साथ 1.05-लीटर,3-सिलिंडर रेवोट्रॉन डीजल इंजन इस्तेमाल के लिए डिजाइन किया गया है। हालांकि, ऐसी खबरें हैं कि टाटा की इस माइक्रो-एसयूवी को 1.2-लीटर पेट्रोल इंजन के साथ ही लांच किया जाएगा, क्योंकि बीएस6 नॉर्म्स लागू होने के बाद डीजल इंजन की लागत में काफी बढ़ोतरी हो जाएगी।कंपनी डीजल इंजन की मांग और उपयोगिता के हिसाब से बाद में यह ऑप्शन हॉर्नबिल में दे सकती है। फरवरी 2020 में होने वाले ऑटो एक्सपो में हॉर्नबिल के प्रॉडक्शन वर्जन से पर्दा उठाए जाने की संभावना है। इसके बाद 2020 में ही इस लांच किया जा सकता है।