Current Crime
ग़ाजियाबाद दिल्ली एन.सी.आर

पीएम के बर्थ डे वाले कार्यक्रम में तवज्जो को लेकर रहा सस्पेंस

किसी को मिला बाद में माईक और किसी ने मंच से बना लिया डिस्टेंस

वरिष्ठ संवाददाता (करंट क्राइम)
गाजियाबाद। नवयुग मार्किट में शहीद पथ पर गुरूवार को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के जन्मदिन पर गाजियाबाद के भाजपाईयों का सेवा मेला रहा। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के जन्मदिन पर भाजपा पार्षद राजीव शर्मा के वार्ड में भाजपा महानगर संगठन द्वारा सेवा कार्यक्रम का आयोजन किया गया था। इस कार्यक्रम में टयूनिंग एरर से लेकर कई अन्य चीजें भाजपा बनाम भाजपा देखने को मिली।
प्रधानमंत्री के बर्थ डे वाले कार्यक्रम में कम्यूनिकेशन गैप से लेकर कार्यक्रम में एंट्री गैप का सीन रहा। यहां पर जनप्रतिनिधि भी किश्तों में पहुंचे। उनकी एंट्री का अंदाज बता रहा था कि कुछ तो अंदाज एंटी वाला है और कुछ भी कहो लेकिन ये गैप बहुत कुछ कह रहा है। कार्यक्रम का विधिवत समय सुबह 11 बजे का था। यहां पर दिव्यांगों को कई गिफ्ट दिए जाने थे। सभी कुछ समय से था और व्यवस्था बढिया थी। मंच भी सजा था और सामने कुर्सियों पर लोग भी समय से आ गये थे। बूथ से लेकर मंडल पदाधिकारी अपनी-अपनी डयूटी पर मुस्तैद थे। यहां पर सबसे पहले एंट्री भाजपा विधायक सुनील शर्मा की हुई।
साहिबाबाद विधायक सुनील शर्मा सुबह 10:45 मिनट पर पहुंचे। वह निर्धारित समय से भी 15 मिनट पहले पहुंच गये थे। ऐसा लग रहा था कि विधायक सुनील शर्मा समय का संदेश देना चाहते हैं। इसलिए वह पहले पहुंच गये। इसके बाद दूसरी एंट्री मेयर आशा शर्मा की हुई। वह विधायक सुनील शर्मा से 15 मिनट की देरी पर कार्यक्रम में पहुंची और वह 11 बजे कार्यक्रम के मंच पर थी। ऐसा लग रहा था कि 70वें जन्मदिन पर आयोजित कार्यक्रम में जनप्रतिनिधियों ने एक-दूसरे से 15 मिनट वाला गैप बना रखा था।
जब साहिबाबाद विधायक सुनील शर्मा और मेयर आशा शर्मा कार्यक्रम में पहुंच गये तो ठीक 15 मिनट बाद 11:15 पर मुरादनगर विधायक अजीतपाल त्यागी पहुंचे। इसके बाद 15 मिनट वाला सस्पेंस दोगुनी हो गया और 30 मिनट बाद महानगर अध्यक्ष संजीव शर्मा लोकसभा सांसद व केन्द्रीय सड़क परिवहन राज्यमंत्री जनरल वीके सिंह के साथ कार्यक्रम स्थल पर पहुंचे।
किश्तों में पहुंचने का जनप्रतिनिधियों का ये अंदाज चर्चा का विषय बना रहा। एक दौर था जब सभी जनप्रतिनिधि एक साथ पहुंचकर एक रूपता, एकजुटता का संदेश देते थे। बहरहाल गुरूवार को सब विधायक 15 मिनट और लोकसभा सांसद 30 मिनट के गैप वाला संदेश देते रहे।

प्रथम नागरिक से कराया कार्यक्रम का समापन

मेयर महानगर के प्रथम नागरिक माने जाते हैं। हमारे यहां महिला प्रथम का संदेश भी दिया जाता है। अब ये भी एक इत्तेफाक था कि प्रथम नागरिक महिला हैं। यानि लेडी फर्स्ट का रूल भी है और प्रथम नागरिक का प्रोटोकॉल भी है। लेकिन गुरूवार को नवयुग मार्किट में प्रधानमंत्री के जन्मदिन पर आयोजित कार्यक्रम में दोनों ही नियम अपने रिवर्स गेयर में दिखाई दिए। मेयर से शुरूआत करानी थी लेकिन उन से समापन कराया गया। मेयर आशा शर्मा ने कार्यक्रम का समापन किया। जबकि प्रथम नागरिक होने के नाते उन्हे सबसे पहले माईक दिया जाना चाहिए था और मेयर से कार्यक्रम की शुरूआत करायी जा सकती थी।

सबसे बड़ी विधानसभा वालों ने बना लिया मंच, माईक से डिस्टेंस

प्रधानमंत्री के जन्मदिन पर आयोजित कार्यक्रम में ये भी रहा कि सबसे बड़ी विधानसभा के विधायक सबसे पहले पहुंचे और सबसे पहले चले भी गये। साहिबाबाद विधानसभा देश की सबसे बड़ी विधानसभा है। यहां से भाजपा के सुनील शर्मा विधायक हैं। कार्यक्रम में मंच भी था और माईक भी था। विचार सुनने के लिए सामने पब्लिक भी थी। लेकिन विधायक सुनील शर्मा ने माईक से दूरी बनाई। जब मंच पर मौजूद सभी ने माईक संभाला तो यहां सुनील शर्मा ने कुछ अलग ही कर डाला। उन्होंने सोशल डिस्टेंस के तहत माईक से डिस्टेंस बनाया और वह थोड़ी देर बाद वह मंच से नीचे आये और कुछ देर रूकने के बाद वापिस चले गये।

कौन भाजपा नेता ले गया बचे हुए फूल और दस्ताने

भाजपा ने जब प्रधानमंत्री के जन्मदिन पर कार्यक्रम आयोजित किया। तब समापन के बाद फूल और दस्ताने ले जाने का किस्सा पार्क तक गूंजता रहा। बताते हैं कि मंडल स्तर के एक पदाधिकारी कार्यक्रम के बाद मंच से बचे हुए फूल और दस्ताने उठाकर ले गये। दस्ताने उठा रहे नेता जी को भाजपा के ही एक पार्षद ने मोबाईल फोन के कैमरे में भी कैद कर लिया। हालांकि ये भी हो सकता है कि फूल ले जाने वाले भाजपा नेता ने खर्च बचाते हुए अन्य स्थान पर प्रधानमंत्री के जन्मदिन की खुशी को जनता के साथ सेलिब्रेट किया हो और आत्म निर्भर व कम खर्च का संदेश दिया हो।

Related posts

Current Crime
Ghaziabad No.1 Hindi News Portal
%d bloggers like this: