एसएसपी ने दो सिपाहियों को किया निलम्बित

0
58

थाना इंचार्ज और चौकी प्रभारी को किया लाइन हाजिर
गाजियाबाद (करंट क्राइम)। मेरठ के सरधना थाना क्षेत्र में लड़की को आत्महत्या के लिए उकसाने के मामले में आरोपी को मिलीभगत कर गिरफ्तारी से बचाने के प्रयास करने वाले थाना लिंक रोड में तैनात दो सिपाहियों को एसएसपी ने जांच के बाद निलंबित कर आरोपियों के खिलाफ थाना लिंक रोड में मामला दर्ज करने के आदेश दिए हैं।
सरधना की रहने वाली नाबालिग लड़की ने खुद को आग के हवाले कर दिया था। जिसके कारण वह 70 प्रतिशत जल गई थी। जिसका आरोप गांधीनगर मेरठ के रहने वाले राहुल सैनी पर लगा था।
पीड़िता के परिजनों ने थाना सरधना में रोहित सैनी पर नाबालिग को आत्महत्या के लिए उकसाने व 148, 307, 323, 504, 506 सहित पोस्को में मामला दर्ज कराया था। जिसके बाद आरोपी रोहित सैनी ने अपने फूफा चमन सैनी और उनके एक अन्य दोस्त के साथ मिलकर थाना लिंक रोड में तैनात सिपाही जयगोविंद और रामगोपाल के साथ साठगांठ कर ली। मामले की जानकारी होते हुए भी दोनों सिपाही ने रोहित सैनी को लिंक रोड थाने से आबकारी धाराओं में जेल भेज दिया।
इस सम्बन्ध में जानकारी मिलने के बाद वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक वैभव कृष्ण ने मामले की जांच क्षेत्राधिकारी साहिबाबाद राकेश नरायण मिश्र को सौंप दी थी। जांच के दौरान सीओ साहिबाबाद ने सिपाही जयगोविंद और रामगोपाल को दोषी पाया।
उन्होंने जांच रिपोर्ट एसएसपी को सौंप दी। जिसके बाद वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक वैभव कृष्ण ने तुरन्त दोनों सिपाहियों को निलंबित करते हुए थाना लिंक रोड में मुकदमा दर्ज कराया गया है। और इसी मामले में थाना इंचार्ज जय प्रकाश चौबे व चौकी इंचार्ज
अजय वर्मा को लाइन हाजिर कर दिया गया है। साथ ही दोनों सिपाहियों की बर्खास्तगी के लिए शासन को भी रिपोर्ट भेजी गई है।