सामाजिक संकल्प और पीएम मोदी की इच्छाशक्ति से खत्म हुआ कश्मीर का विशेष दर्जा : भागवत

0
60

नागपुर (ईएमएस)। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ प्रमुख मोहन भागवत ने कहा कि समाज के दृढ़संकल्प की वजह से संविधान के अनुच्छेद 370 के तहत जम्मू-कश्मीर को मिले विशेष राज्य के दर्जे को खत्म किया जा सका है। उन्होंने ऐसा साहसिक निर्णय लेने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सराहना की। उन्होंने कहा हमें याद रखना चाहिए कि अपने सकारात्मक और राष्ट्र के विकास पर केंद्रित हम अपने संकल्पों से हम राष्ट्र की तस्वीर बदल सकते हैं।
संघ प्रमुख भागवत ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बारे में लोग कहते हैं कि वह हैं तो सब मुमकिन है। उन्होंने कहा यदि लोग संकल्पित हैं, तो असंभव को भी संभव बना सकते हैं। महाराष्ट्र के नागपुर में स्थित राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के मुख्यालय में स्वतंत्रता दिवस समारोह के अवसर पर लोगों को बधाई देते हुए भागवत ने कहा पूरे समाज के संकल्प के कारण जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 के प्रावधानों को हटाया जा सका है। इसलिए हम आज के दिन उस संकल्प को फिर से दोहराते हैं।
उन्होंने कहा आज स्वतंत्रता के लिए किए गए बलिदानों को याद करने और फिर से ऐसा संकल्प लेने का दिन है। बाद में डॉ. हेडगेवार स्मृति मंदिर परिसर में राष्ट्रीय झंडा फहराने के बाद भागवत ने मोदी और जम्मू-कश्मीर का नाम लिए बिना कहा कि यह लोगों की इच्छाशक्ति थी, जिसने देश के नेतृत्व को उस राज्य में यह कदम उठाने के लिए ताकत दी। उन्होंने कहा लोग प्रधानमंत्री के बारे में यह कहते हैं कि वह हैं तो कुछ भी मुमकिन है।
लोगों का यह कहना गलत नहीं है। क्योंकि अंतत: यह सब व्यक्ति की इच्छाशक्ति पर ही निर्भर करता है। संघ प्रमुख ने कहा कि समाज की इच्छाशक्ति उन लोगों के दृढ़ संकल्प को बढ़ावा देने के लिए आवश्यक है, जो देश के शासन में शीर्ष पर हैं। उन्होंने कहा देश का 73वां स्वतंत्रता दिवस गुरुवार को मनाया जा रहा है। यह धारणा है कि अगर हम दृढ़ संकल्पित हैं, तो हम असंभव को भी संभव कर सकते हैं। इससे पूर्व स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर संघ के सर कार्यवाह सुरेश (भय्याजी) जोशी ने यहां महाल क्षेत्र स्थित संघ मुख्यालय में ध्वजारोहण किया। उन्होंने कहा कि देश के महान नेताओं के स्वप्नों को पूरा करने के लिए देश आगे बढ़ रहा है।