Current Crime
उत्तर प्रदेश

कोरोना से बचाव में सामाजिक बदलाव के साथ कारोबार का ट्रेंड भी बदला

मुरादाबाद। कोरोना महामारी से बचाव में सामाजिक बदलाव के साथ कारोबार का ट्रेंड भी बदलने लगा है। स्टैंडर्ड केमिकल्स के राहुल अग्रवाल भी लॉकडाउन में खाली बैठे थे। इस पर उन्होंने कोरोना से जंग में भागीदारी में और कारोबार में कुछ नया करने के लिए अध्ययन शुरू किया। इसके बाद सैनिटाइजर के बेहतर और आसान प्रयोग की तकनीक खोजी, उसके लिए उपकरण हरियाणा और पंजाब से मंगाए। इसमें एक है डिस्पेंसर विथ सेंसर मशीन। इसकी खासियत अलग है। इस मशीन के नीचे हाथ रखते ही पूरी हथेली सैनिटाइज हो जाती है। हथेली हटते ही मशीन अपने आप बंद हो जाती है। 10 लीटर हैंड सैनिटाइज की क्षमता वाली मशीन घर के अंदर या दफ्तर में कहीं भी लगाई जा सकती है।

पैर रखते ही सैनिटाइजर की होती है बारिश : सैनिटाइजेशन उपकरण में फुट पैडल डिस्पेंसर मशीन भी काफी उपयोगी साबित हो रही है। इस मशीन को दफ्तर, दुकान या घर के दरवाजे पर लगा सकते हैं। इसके नीचे से गुजरते समय पैर एक पैडल पर पड़ता है। जैसे ही पैर पैडल पर पड़ता है वैसे ही ऊपर से सैनिटाइजर गिरता है। उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद में केंद्रीय कपड़ा मंत्रालय के अधीन मेटल हैंडीक्राफ्ट र्सिवस सेंटर पर लगी मशीन में वहां काम करने वाले कर्मचारी कुछ ही सेकेंड में अपने हाथ सैनिटाइज कर रहे हैं। राहुल अग्रवाल बताते हैं कि डिस्पेंसर विथ सेंसर मशीन के लिए पांच जगह से आर्डर मिले हैं। फुट पैडल डिस्पेंसर मशीन के लिए 50 लोगों ने आर्डर दिए हैं।

जागृति संस्थान की मांग पर अभी तक एक दर्जन कॉलोनियों को सैनिटाइज भी कराया जा चुका है। मुहल्ले और अपार्टमेंट को भी सैनिटाइज कराने की मांग आ रही है। लॉकडाउन में खाली बैठे थे, इसलिए काम को करने की ठान ली। हमारे पास जो भी मशीने हैं वह पंजाब, नोएडा और सोनीपत से मंगाई है। सैनिटाइजर भी सोनीपत से मंगाए हैं। मास्क पुणे से मंगाकर बेच रहे हैं।

Related posts

Current Crime
Ghaziabad No.1 Hindi News Portal
%d bloggers like this: