मुंबई में नाले में गिरे बच्चे का 15 घंटे के बाद नहीं चला पता, कांग्रेस का आरोप शिवसेना जिम्मेदार

0
53

मुंबई (ईएमएस)। मुंबई के गोरेगांव इलाके में नाले में गिरे बच्चे को इस घटना के 15 घंटे बाद भी ढूंढा नहीं जा सका है।इस मामले में राजनीति भी शुरू हो गई है। मुंबई कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष संजय निरुपम ने मुंबई महानगरपालिका में लंबे समय से सत्ताधारी पार्टी पर आरोप लगाया है कि शिवसेना मैनहॉल भी नहीं ढक सकी। इसके साथ ही निरुपम ने दो साल पहले मुंबई में एक डॉक्टर के मेनहॉल में गिरने के मामले का भी जिक्र किया। बता दें कि गोरेगांव ईस्ट अंबे़डकर नगर इलाके में दिव्यांश सिंह नामक डेढ़ साल का बच्चा नाले में गिर गया। हादसे के बाद मौके पर दमकल विभाग कर्मचारी और पुलिस, बच्चे को निकालने में जुटी। यह घटना रात 10 बजे के करीब हुई बच्चा अभी भी निकाला नहीं जा सका है।
हादसे की सूचना के बाद मौके पर दमकल विभाग के कर्मचारी, पुलिस और बीएमसी की टीमें मौके पर पहुंच गईं। जानकारी के मुताबिक, बच्चे की तलाश में टीमों ने सर्च ऑपरेशन चलाया है। हालांकि अभी तक बच्चे का कुछ पता नहीं चला सका है। घटना के बाद से बच्चे के परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है। बताया जा रहा है कि रात भर से आप-पास के सभी नाले को खोलकर दिव्यांश की तलाश की जा रही है, लेकिन दिव्यांश का अबतक कुछ पता नहीं चल पाया है। स्थानीय लोगों ने आरोप लगाया है कि इस घटना के लिए पूरी तरह बीएमसी जिम्मेदार है। बच्चा जहां गिरा वह नाला तकरीबन 3-4 फिट गहरा था और बारिश के चलते पानी का बहाव भी तेज था,जिस गटर में बच्चा गिरा वह आगे जाकर बड़े नाले से जुड़ता है, जो करीबन 10 से 15 फिट गहराई के होते हैं, जिसके चलते बच्चे को ढूंढने में काफी दिक्कत आ रही है।