Current Crime
अन्य ख़बरें उत्तर प्रदेश

यूपी में तेज आंधी-तूफान और बेमौसम बारिश ने किसानों को मुश्किल में डाला, हादसों में 14 लोगों की मौत

लखनऊ। आमतौर पर मई के माह में चटख धूप और तपती हवाएं लोगों को परेशान करती हैं, लेकिन इस बार पिछले दो दिनों से यूपी आंधी और बारिश से बेहाल है। इस दौरान राज्य में तेज आंधी-तूफान और बेमौसम तेज बारिश ने किसानों के लिए बड़ी मुश्किल पैदा कर दी। इस दौरान हुए विभिन्न हादसों में 14 लोगों की मौत हो गई है, जबकि अनेक लोग घायल हैं।
राज्य के कई हिस्सों में आंधी-तूफान के साथ तेज वर्षा और ओलावृष्टि हुई। मौसम की मार से गेहूं और आम की फसल को काफी नुकसान हुआ है। मौसम विभाग ने बुधवार और गुरुवार को भी पूर्वी व पश्चिमी उत्तर प्रदेश में आंधी-बारिश होने की संभावना जताई है। प्रदेश में तेज आंधी और बारिश की वजह से हुए हादसों में 14 लोगों की मौत हो गई है। इनमें से चार लोगों की मौत सीतापुर में हुई। जबकि पूर्वाचल में तीन लोगों की मौत हुई। इसके अलावा अंबेडकरनगर में एक, बाराबंकी में दो, रायबरेली में एक, लखीमपुर खीरी में दो लोगों की मौत के समाचार हैं।
आंचलिक मौसम विज्ञान केंद्र के निदेशक जेपी गुप्ता ने बताया कि लगातार सक्रिय पश्चिमी विक्षोभ और चक्रवातीय परिस्थितियों के कारण तापमान में गिरावट जारी है। मंगलवार को 2.8 डिग्री की गिरावट के साथ पारा 33.5 डिग्री पहुंच गया। वहीं, रात में 4 डिग्री की कमी से पारा 20 डिग्री सेल्सियस रेकॉर्ड हुआ। जेपी गुप्ता के मुताबिक, बुधवार और गुरुवार को भी शहर में बाद छाए रहेंगे और बारिश के साथ-साथ आंधी तूफान की भी संभावना है।
प्रदेश के पूर्वी और पश्चिमी हिस्सों में बारिश और तूफान आ सकता है। कुछ इलाकों में धूलभरी आंधी और तूफान की भी चेतावनी है। तेज आंधी और बारिश से राजधानी लखनऊ के गोमतीनगर, इंदिरानगर, विकासनगर, महानगर, आलमबाग समेत कई इलाकों में आधे घंटे तक बिजली गुल रही। वहीं, ग्रामीण इलाकों में 50 से ज्यादा पोल क्षतिग्रस्त हो गए। इसकी वजह से 33 केवी लाइन खराब हो गई। इंजीनियरों के मुताबिक, सबसे ज्यादा नुकसान आउटर इलाकों में हुआ है। इसमें मोहनलालगंज, गेहरू, माल, मलिहाबाद और बीकेटी के इलाके प्रमुख हैं। बालाघाट, दुबग्गा सहित कई इलाकों में दोपहर तीन से शाम सात बजे तक बिजली सप्लाई बंद रही।
तेज आंधी से शहर और बाहरी इलाकों में कई जगह पेड़ उखड़ गए। तेज आंधी-तूफान और ओलावृष्टि से आम के बगीचों को भारी नुकसान हुआ है। आम किसानों के अनुसार इस बार बौर अच्छे आए थे, लेकिन इस बारिश और आंधी से मलीहाबाद में करीब 10 फीसदी आम गिर गए। इसके अलावा गेहूं की फसल को भी नुकसान पहुंचा।

Related posts

Current Crime
Ghaziabad No.1 Hindi News Portal
%d bloggers like this: