दसवीं फैल लड़के ने राजकोट के युवक की फेसबुक और इंस्टाग्राम किया हेक 21 को युवाओं से रूबरू होंगे भाजपाध्यक्ष अमित शाह आकाशवाणी से आज मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी की भेंटवार्ता का होगा प्रसारण रेप की घटनाओं पर हरियाणा के सीएम खट्टर की आपत्तिजनक टिप्पणी से चहुओर रोष भारत को पंड्या की कमी खलेगी : हसी आस्ट्रेलिया दौरे में भारतीय गेंदबाजों को इन खिलाड़ियों से रहना होगा सावधान न्यूजीलैंड ने पाकिस्तान को 227 पर समेटा विराट ने ऋषभ के साथ साझा की तस्वीरें अखाद्य तेल का आयात 8 फ़ीसदी बढ़ा मिंत्रा जबोंग का करेगी विलय, अनंत नारायणन बने रहेंगे सीईओ
Home / अन्य ख़बरें / जिले के पुलिस अधिकारी हुए महिला को लेकर गंभीर

जिले के पुलिस अधिकारी हुए महिला को लेकर गंभीर

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ न मिले तो कहीं फिर से न काट ले नस
वरिष्ठ संवाददाता (करंट क्राइम)

गाजियाबाद। जिले के पुलिस अधिकारी एक महिला को लेकर अब बेहद सीरियस है। मामला महिला का है लेकिन सीन में सीएम है। पुलिस की समस्या यह है कि यदि महिला को सीएम नहीं मिले तो वह अपने हाथ की नस काट लेगी। पुलिस की दिक्कत यह है कि महिला एक बार पहले भी ऐसा कर चुकी है।
दोबारा ऐसा न हो इसके लिए पुलिस अधिकारी अब महिला पर निगाह रख रहे हैं। यहां तक की पुलिस अधिकारी आपसी बातचीत में कह रहे हैं कि महिला से व्यक्तिगत रूप से संपर्क स्थापित करते हुए उसके साथ ऐसे स्थानीय पुलिस कर्मचारी या व्यक्ति लगाए जाए जो उसे भलीभांति जानते हो। महिला ने फिलहाल नस नहीं काटी है लेकिन अधिकारी महिला को लेकर सीरियस है।
मामला गाजियाबाद के कोटगांव इलाके की महिला से जुड़ा है। 8 फरवरी को महिला लखनऊ में मुख्यमंत्री के जनता दरबार में पहुंची थी। यहां जब उसकी सीएम से मुलाकात नहीं हुई तो उसने गुस्से में आकर अपने बाएं हाथ की कलाई में काट लिया। महिला को तुरंत लखनऊ के हजरत गंज के सिविल अस्पताल में भर्ती कराया गया था।
महिला को अगले दिन छुट्टी मिल गई लेकिन अब पता चला है कि महिला ने कहा है कि वह फिर से मुख्यमंत्री से मिलने जाएगी और जब तक मुख्यमंत्री से मुलाकात नहीं हो जाती, तब तक लखनऊ में ही रहेगी। नस काटने की बात जब लखनऊ से गाजियाबाद पहुंची तो पुलिस अधिकारियों का सीरियस होना स्वभाविक था। बड़े पुलिस अधिकारी ने जूनियर पुलिस अधिकारी को पत्र लिखकर कहा कि इस मामले को गंभीरता से लेते हुए महिला से व्यक्तिगत रूप से संपर्क करे। महिला को समझाने और उसकी समस्या को हल करने का प्रयास किया जाए।
महिला की गतिविधियों के संबंध में लगातार सूचना ली जाए। महिला के साथ ऐसे व्यक्ति और पुलिस कर्मचारियों को लगाया जाए जो महिला को भलीभांति जानते और पहचानते हो। बड़े पुलिस अधिकारी लखनऊ से नस वाली खबर मिलने के बाद इस कदर गंभीर है कि उन्होंने जूनियर पुलिस अधिकारी को लिख दिया कि किसी भी परिस्थिति में कोई अप्रिय घटना न होने पाए। महिला के संबंध में अप्रिय घटना रोकने के लिए आप व्यक्तिगत रूप से जिम्मेदार होंगे। अब महिला तो शांत है लेकिन पुलिस महिला को लेकर बिल्कुल शांत नहीं है। मामला मुख्यमंत्री के दरबार में महिला द्वारा खुद की नस काटे जाने का है और पुलिस के लिए मामला सिरदर्द बन गया है। बताते हैं कि महिला पर नजर रखी जा रही है और पुलिस इस मामले में महिला का अपडेट रख रही है।

Check Also

खशोगी हत्या मामले में अमेरिका ने 17 सऊदी नागरिकों पर प्रतिबंध लगाया

वाशिंगटन (ईएमएस)। अमेरिकी पत्रकार जमाल खशोगी की नृशंस हत्या में संलिप्त सऊदी अरब के 17 …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *