कांग्रेस के झूठे वायदों पर जनता को भरोसा नहीं : नरेंद्र मोदी प्रधानमंत्री ने लालपुर में विशाल आमसभा को किया संबोधित प्रत्येक मतदाता से मतदान करने की जा रही अपील जीका बुखार से बचाव के लिए सावधानी बरतें चिल्ड्रन होम में गार्ड द्वारा बच्चों नशीली दवा देने के मामले में हाईकोर्ट ने शासन से मांगा जवाब पीएम मोदी का खुला चैलेंज पहले 4 पीढ़ियों का हिसाब दो, मैं तो 4 साल का हिसाब दे रहा हूं इमली के बीज में छिपा है चिकनगुनिया का इलाज: आईआईटी वैज्ञानिक गेहूं की बुआई के लिए खेतों में पानी ना होने से संकट में 3 हजार किसान bhopal क्राईम ब्रांच कार्यालय के सामने से कार चोरी तेज रफ्तार कार ने बाईक को मारी टक्कर, एक की मौत दुसरा घायल सिग्नेचर ब्रिज पर निर्वस्त्र होने का वीडियो वायरल
Home / देश / भुगतान प्रणाली के लिए अलग ‎नियामक पर रिजर्व बैंक भड़का – केंद्र सरकार के फैसले का ‎किया कड़ा विरोध

भुगतान प्रणाली के लिए अलग ‎नियामक पर रिजर्व बैंक भड़का – केंद्र सरकार के फैसले का ‎किया कड़ा विरोध

मुंबई (ईएमएसव)। भारतीय रिजर्व बैंक ने भुगतान और निपटान कानूनों (पेमेंट ऐंड सलूशन रूल्स) में प‎रिवर्तन के बारे में सरकार की एक समिति की कुछ सिफारिशों के खिलाफ अपना असहमति नोट (डिसेंट नोट) सार्वजनिक किया है। आरबीआई का यह कदम इसे नियमों के खिलाफ माना जा रहा है। केंद्रीय बैंक ने कहा है कि भुगतान प्रणाली (पेमेंट सिस्टम) का नियमन केंद्रीय बैंक के पास ही रहना चाहिए। सरकार ने आर्थिक मामलों के सचिव की अध्यक्षता में भुगतान और निपटान प्रणाली (पीएसएस) कानून, 2007 में संशोधनों को अंतिम रूप देने के लिए एक अंतर मंत्रालयी समिति गठित की थी। समिति ने रिपोर्ट के मसौदे में भुगतान संबंधित मुद्दों के लिए एक स्वतंत्र नियामक, भुगतान नियामक बोर्ड (पीआरबी) के गठन का सुझाव दिया है। रिजर्व बैंक के प्रतिनिधि ने समिति को जो असहमति नोट दिया है, उसमें कहा गया है कि रिजर्व बैंक से बाहर भुगतान प्रणाली के लिए अलग ‎नियामक का कोई मामला नहीं बनता है। रिजर्व बैंक नए पीएसएस विधेयक के पूरी तरह खिलाफ नहीं है, लेकिन जहां तक भारत का संबंध है, बदलाव ऐसा नहीं होना चाहिए कि इससे मौजूदा ढांचा ही हिल जाए और बेहतर तरीके से काम कर रही और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर सराहना पाने वाले इस ढांचे में किसी तरह का व्यवधान खड़ा हो जाए।

Check Also

10 रेलवे अस्पताल बनेंगे मेडिकल कॉलेज

नई दिल्ली (ईएमएस)। भारतीय रेलवे देश में 10 नए मेडिकल कॉलेज स्थापित करने जा रहा …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *