कांग्रेस के झूठे वायदों पर जनता को भरोसा नहीं : नरेंद्र मोदी प्रधानमंत्री ने लालपुर में विशाल आमसभा को किया संबोधित प्रत्येक मतदाता से मतदान करने की जा रही अपील जीका बुखार से बचाव के लिए सावधानी बरतें चिल्ड्रन होम में गार्ड द्वारा बच्चों नशीली दवा देने के मामले में हाईकोर्ट ने शासन से मांगा जवाब पीएम मोदी का खुला चैलेंज पहले 4 पीढ़ियों का हिसाब दो, मैं तो 4 साल का हिसाब दे रहा हूं इमली के बीज में छिपा है चिकनगुनिया का इलाज: आईआईटी वैज्ञानिक गेहूं की बुआई के लिए खेतों में पानी ना होने से संकट में 3 हजार किसान bhopal क्राईम ब्रांच कार्यालय के सामने से कार चोरी तेज रफ्तार कार ने बाईक को मारी टक्कर, एक की मौत दुसरा घायल सिग्नेचर ब्रिज पर निर्वस्त्र होने का वीडियो वायरल
Home / बाजार / रिलायंस इंडस्ट्रीज की हैथवे और डेन को खरीदने की तैयारी

रिलायंस इंडस्ट्रीज की हैथवे और डेन को खरीदने की तैयारी

मुंबई (ईएमएस)। रिलायंस इंडस्ट्रीज (आरआईएल) अपने ब्रॉडबैंड नेटवर्क के कवरेज विस्तार के लिए अपनी रणनीति के तहत जल्द ही देश की जानीमानी केबल टीवी और ब्रॉडबैंड सर्विस प्रोवाइडर्स हैथवे केबल एंड डेटाकॉम और डेन नेटवर्क्स में नियंत्रण हिस्सेदारी खरीदने की योजना बना रही है। कंपनी ब्रॉडबैंड नेटवर्क की कवरेज तेजी से बढ़ाने के लिए दोनों कंपनियों को खरीदने की तैयारी कर रही है। इस मामले की सीधी जानकारी रखने वाले सूत्रों ने बताया कि आरआईएल दोनों कंपनियों में 25 प्रतिशत से अधिक स्टेक खरीदेगी। इससे उसे इन कंपनियों के बोर्ड में जगह मिलेगी और वह उन्हें कंट्रोल कर पाएगी। इन सौदों के चलते रिलायंस को दोनों कंपनियों के लिए ओपन ऑफर लाना होगा। इससे इनमें प्रमोटरों की हिस्सेदारी में कमी आएगी। सूत्रों ने बताया कि डील का ऐलान जल्द ही हो सकता है। हैथवे और डेन ने स्टॉक एक्सचेंजों को बताया है कि 17 अक्टूबर को उनके बोर्ड की बैठक होने वाली हैं, जिसमें फंड जुटाने के प्रस्ताव पर विचार किया जाएगा।
हैथवे पर रहेजा ग्रुप का कंट्रोल है, जबकि डेन पर समीर मनचंदा का। डील की अटकलें लगने के बाद से दोनों कंपनियों के शेयर प्राइस में तेजी आ रही है। हैथवे का शेयर बीएसई पर सोमवार को 6.04 प्रतिशत की तेजी के साथ 28.95 रुपये और डेन का 10.84 प्रतिशत उछलकर 75।.65 रुपये पर बंद हुआ। एक विश्वस्त सूत्र ने बताया, हैथवे और डेन इस डील में फ्रेश शेयर रिलायंस को इश्यू करेंगी। उन्होंने कहा कि डील पर फाइनल काम अभी चल रहा है। उन्होंने बताया कि सौदे के बाद दोनों कंपनियों में रिलायंस की 25 प्रतिशत से अधिक हिस्सेदारी होगी। सूत्र ने कहा, रिलायंस बड़ा स्टेक लेगी, लेकिन वह 50 प्रतिशत से कम होगा। उन्होंने इस बारे में और जानकारी देने से मना कर दिया।

Check Also

सेबी ने निगरानी के लिए सात कंपनियों का किया चयन

नई ‎दिल्ली (ईएमएस)। बाजार नियामक भारतीय प्रतिभूति और विनिमय बोर्ड (सेबी) ने बाजार में निगरानी …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *