Current Crime
उत्तर प्रदेश ग़ाजियाबाद दिल्ली एन.सी.आर

पूर्व संगठन मंत्रियों की बैठक में संगठन की हालत पर चिंतन

कौन सा मौजूदा पदाधिकारी रहा है 18 पूर्व संगठन मंत्रियों के निशाने पर
वरिष्ठ संवाददाता (करंट क्राइम)

गाजियाबाद। भाजपा में इन दिनों सब कुछ सही नही चल रहा है। जब 28 और 29 जुलाई को लखनऊ में अमांडा होटल में 18 पूर्व संगठन मंत्री संगठन की हालत पर चिंतन करने के लिए बैठे तो यहां जो शब्द थे वह बेहद चिंता का विषय हैं। बताते हैं कि होटल में चिंतन के बाद 18 पूर्व संगठन मंत्री मौजूदा प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह से भी मिले। यहां पर जिस बात पर चिंता व्यक्त हुई उसमें सरकार के अधिकारियों और कर्मचारियों का कार्यकर्ताओं के प्रति अभद्र कार्यशैली रही। भाजपा के प्रदेश पदाधिकारियो का कार्यालय की अनुशासन की आड़ में कार्यकर्ताओं से संवादहीनता और सम्पर्क शून्यता का मुद्दा रहा। प्रदेश पदाधिकारियों का हिटलरशाही रवैया चिंतन बैठक का मुद्दा रहा। आपराधिक छवि वाले तथा साम-दाम-दंड भेद अपनाने वाले को प्रदेश पदाधिकारी बनाने का मुद्दा छाया रहा।

सैक्टर प्रभारी से संवाद का आडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हुआ तो इससे पूर्व संगठन मंत्रियों को पीड़ा पहुंची है। बताते हैं कि मामला अब प्रधानमंत्री तक पहुंचने वाला है। सोशल मीडिया पर इस बैठक को लेकर जबरदस्त चर्चा है। कहा ये जा रहा है कि सांसद और विधायक भी अपने को अपमानित महसूस कर रहे हैं। पूर्व पदाधिकारी अपनी सरकार में अपमानित हो रहे हैं। बैठक में जो शब्द हैं उनमें कहा गया है कि यदि प्रदेश नेतृत्व कड़ा फैसला नही लेता है तो हम सभी लोग कड़ निर्णय लेने में देर नहीं लगायेंगे। इस बैठक में 2022 की चुनावी तैयारियों को लेकर भी चर्चा हुई है। फिलहाल पूर्व संगठन मंत्रियों की चिंतन बैठक में उठे मुद्दों को लेकर चिंता व्यक्त की जा रही है और माना जा रहा है कि पार्टी में सबकुछ ठीक नहीं चल रहा है।

Related posts

Current Crime
Ghaziabad No.1 Hindi News Portal
%d bloggers like this: