Current Crime
अन्य ख़बरें ग़ाजियाबाद दिल्ली एन.सी.आर देश

क्वेरेंटाइन सेंटरों में हल्की फुल्की पुस्तकें पढ़कर कम कर रहे तनाव

गाजियाबाद। किसी भी चुनौति को अवसर में तब्दील करना ही सृजन हैए और हर मानव का सृजनात्मक होना समय की जरूरत है। कोई काम न होने की स्थिति में भी कुछ कर लेना चुनौति को अवसर में बदल लेना है। क्वेरेंटाइन सेंटरों में रह रहे लोग भी यही कर रहे हैं। जनपद में 10 क्वेरेंटाइन सेंटर संचालित किए जा रहे हैं। इन सभी सेंटरों में फिलहाल कुल मिलाकर 205 लोग रह रहे हैं। इनमें इनमें महिलाएं, पुरूष और बच्चे भी शामिल हैं। क्वेरेंटाइन सेंटरों के प्रभारी एसीएमओ डा विश्राम सिंह ने बताया क्वेरेंटाइन सेंटरों में रह रहे लोगों के पास खुद को पहचानने के साथ ही स्वाध्याय और योग करने का भी बेहतर मौका है। सभी सेंटरों में दिन की शुरूआत योग के साथ होती है। योगाभ्यास प्रशिक्षित योग शिक्षकों की देखरेख में कराया जाता है। इसके अलावा खाली समय में पढ़ने के लिए स्वास्थ्य विभाग की ओर से पुस्तकें भी उपलब्ध कराई गई हैं। दरअसल पुस्तकें पढ़ने से इन लोगों की दिमागी खुराक भी पूरी होती रहती है और मानसिक तनाव भी कम करने में मदद मिलती है।
डा विश्राम सिंह ने बताया जनपद में आईएमएस, सुंदरदीप, जनहित इंस्टीटयूट और आईडियल इंस्टीटयूट समेत दस संस्थानों में क्वेरेंटाइन सेंटर संचालित किए जा रहे हैं। सभी सेंटरों में फिलहाल कुल 205 लोग रह रहे हैं। इन लोगों को समय का सदुपयोग करने के लिए चंपक और लोटपॉट जैसी हल्की फुल्की पुस्तकें उपलब्ध कराई गई हैं। इसके अलावा महिलाओं को गृहशोभा पत्रिका उपलब्ध कराई गई हैं ताकि वह खाली समय का पढ़ने में सदुपयोग कर सकें। डा सिंह का कहना है कि स्वाध्याय हमेशा अच्छा रहता है और मानव को कुछ अच्छा सोचने और करने की प्रेरणा देता है। उन्होंने बताया योगाभ्यास करने से रोग प्रतिरोधक क्षमता तो बढ़ती ही है साथ ही तनाव कम करने में भी यह मददगार साबित होता है। क्षेत्रीय आयुर्वेद और यूनानी अधिकारी डा अशोक कुमार राणा ने बताया कि भोजन के बाद 10 मिनट तक वज्रासन पर बैठने से उतना ही लाभ मिलता है जितना किलोमीटरों टहलने के बाद मिलता है। क्वेरेंटाइन सेंटरों में वज्रासन भी कराया जा रहा है। इसके अलावा पांच मिनट उज्जयी करने से न केवल गले के विकार दूर होते हैं बल्कि खांसी भी ठीक होती है और प्रतिरोधक क्षमता भी बेहतर होती है।

Related posts

Current Crime
Ghaziabad No.1 Hindi News Portal
%d bloggers like this: