इमरान खान का कबुलनामा, पाकिस्तान में रची गई मुंबई हमले की साजिश, दोषियों को दूंगा सजा सपा बोली- योगी आदित्यनाथ यूपी के सबसे अयोग्य मुख्यमंत्री करंट से समलैंगिकता का इलाज करने वाले चिकित्सक को कोर्ट ने किया तलब फिल्‍म निर्माता प्रेरणा अरोरा गिरफ्तार शरद यादव ने वसुंधरा के बारे में दिए गए बयान पर खेद जताया 21 साल बाद राजकुमारी दीया ने मांगा तलाक दिल्ली-एनसीआर: दो हफ्तों से हवा में कोई सुधार नहीं प्रवासी भारतीय देश की विकास गाथा के दूत हैं: गृह राज्‍यमंत्री रिजिजू रेप पीड़िता के इलाज के एवज में 9 लाख का बिल निजी अस्पतालों में होगा ‘आयुष्मान’ के दो तिहाई मरीजों का उपचार
Home / अन्य ख़बरें / राहुल दिशाहीन नेता, सत्ता में आने की हड़बड़ी में करते हैं असामान्य व्यवहार : जावडेकर

राहुल दिशाहीन नेता, सत्ता में आने की हड़बड़ी में करते हैं असामान्य व्यवहार : जावडेकर

जयपुर। केन्द्रीय मानव संसाधन मंत्री प्रकाश जावडेकर ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को ‘दिशाहीन नेता’ करार दिया है। उन्होंने कहा राहुल गांधी के पास कोई मुद्दा नहीं है और लंबे समय से सत्ता से बाहर रहने की बौखलाहट उसके व्यवहार में दिखाई देती है। उन्होंने कहा राहुल गांधी दिशाहीन नेता हैं। उन्होंने कहा आरोप से ही कोई भ्रष्ट नहीं हो जाता। गांधी के पास अपने आरोपों के पक्ष में कोई तथ्य या साक्ष्य नहीं है। उन्होंने कहा कि जब 2014 में कोयला घोटाले को लेकर (पूर्ववर्ती संप्रग सरकार पर) आरोप लगे थे तो साक्ष्य और सबूत भी थे। वहीं जावडेकर ने उच्च शिक्षा मानव संसाधन सम्मेलन के बाद संवाददाताओं से कहा कि पिछले साढे़ चार साल में ना मंत्री पर और ना ही सरकार पर भ्रष्टाचार का कोई आरोप लगा है इसलिये जानबूझ कर कांग्रेस और राहुल गांधी पिछले कुछ महीनों से झूठा आरोप लगा रहे हैं। उन्होंने कहा कि राहुल गांधी और कांग्रेस में छटपटाहट साफ दिखती है। वर्ष 2014 में सत्ता से बाहर हो गये और अब दूर दूर तक सत्ता में वापसी के कोई आसार भी नहीं दिख रहे हैं इसलिये एक नई रणनीति के तहत वे झूठ बोल रहे हैं।
उन्होंने कहा कि राफेल पर राहुल और कांग्रेस के झूठ को सब लोग समझते हैं। जावडेकर ने कहा कि उनको किसी ने सलाह दी होगी कि हजार बार झूठ बोलो तो वह सच हो जाता है। लेकिन सच्चाई यह है कि झूठ कितनी भी बार बोलो, वह सच नहीं बन सकता। उन्होंने कहा कि राफेल दो सरकारों के बीच का समझौता है, ‘इसमें कोई बिचौलिया नहीं है और यही कांग्रेस का दर्द है।

Check Also

इलेक्ट्रिकल-ऑटोमेशन व्यवसाय के बारे में प्रतिस्पर्धा आयोग ने लोगों से मांगी राय

नई दिल्ली (ईएमएस)। भारतीय प्रतिस्पर्धा आयोग (सीसीए) ने 16 जुलाई, 2018 को लारसन एंड टूब्रो …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *