अमेठी सीट पर संजय के बाद राहुल दूसरे गांधी, जिन्हें जनता ने नकार दिया स्मृति ईरानी ने जीत के लिए अमेठीवासियों के प्रति जताया आभार

0
68

अमेठी (ईएमएस)। लोकसभा चुनाव में अमेठी लोकसभा सीट की सबसे ज्यादा चर्चा रही। इस सीट पर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी उम्मीदवार थे और उनके मुकाबले में थीं केंद्रीय कपड़ा मंत्री स्मृति इरानी। स्मृति ईरानी ने उन्हें इस सीट पर 47000 मतों से पराजित किया है। इस तरह राहुल गांधी, संजय गांधी के बाद दूसरे ऐसे गांधी हैं, जिनको अमेठी की जनता ने नकार दिया है।
राहुल को हराकर स्मृति इरानी बहुत खुश हैं। अपनी जीत पर उन्होंने कहा कि अमेठी के लोगों के लिए यह नई सुबह है। स्मृति ईरानी ने जीत के बाद अपने ट्विटर अकाउंट से ट्वीट किया, ‘एक नई सुबह अमेठी के लिए, एक नया संकल्प। धन्यवाद अमेठी शत-शत नमन। आपने विकास पर विश्वास जताया, कमल का फूल खिलाया। अमेठी का आभार’। इससे पहले स्मृति ने एक और ट्वीट किया, जिसमें उन्होंने लिखा, ‘कौन कहता है आसमां में सुराख नहीं हो सकता…’।
स्मृति ने कहा एक तरफ एक परिवार था जबकि दूसरी तरफ एक ऐसा संगठन था, जो परिवार की तरह अमेठी के लोगों के लिए काम कर रहा था। उन्होंने अपनी जीत का श्रेय पार्टी, उसके कामों और कार्यकर्ताओं को दिया। स्मृति ने कहा वह अपनी जीत का श्रेय उन हजारों कार्यकर्ताओं को देना चाहती हैं जो केरल और बंगाल में मारे गए। उन्होंने कहा मैं अपनी जीत केरल और बंगाल में मारे गए कार्यकर्ताओं के परिवारों को देती हूं।
उल्लेखनीय है कि भाजपा की अमेठी लोकसभा सीट से प्रत्याशी स्मृति इरानी ने राहुल को 55,120 मतों से हराया है। स्मृति को यहां 4,67,598 और राहुल को 4,13,394 मत मिले। अमेठी को कांग्रेस का गढ़ माना जाता रहा है। गांधी परिवार से राहुल गांधी इस सीट पर 2004 से लगातार जीत दर्ज कर रहे थे। पिछले लोकसभा चुनाव में राहुल ने स्मृति को 1,07,903 वोटों से हराया था।