प्रियंका के राजनी‎ति में आने से सपा-बसपा के बदले सुर -कांग्रेस को दिया 14 सीटों का ऑफर- सूत्र

0
134

लखनऊ। प्रियंका गांधी वाड्रा के स‎क्रिय राजनी‎ति में आने के बाद से उत्तर प्रदेश की राजनीति में एक नया ट्विस्ट देखने को मिल रहा है। सूत्रों से प्राप्त जानकारी के मुताबिक सपा और बसपा ने कांग्रेस से गठबंधन पर पुनर्विचार शुरू कर दिया है। बताया जा रहा है कि इस गठबंधन की ओर से कांग्रेस को 14 सीटों का ऑफर भी दे दिया गया है। दूसरी ओर कांग्रेस से जुड़े सूत्रों का कहना है कि पार्टी को सपा-बसपा से कम से कम 30 सीटें मिलने की उम्मीद है। बता दें कि मायावती और अखिलेश यादव ने 12 जनवरी को आगामी लोकसभा चुनाव के लिए समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी के बीच गठबंधन का ऐलान किया था। दोनों पार्टियों ने प्रदेश की 80 लोकसभा सीटों में से 38-38 पर चुनाव लड़ने की रणनी‎ति तैयार की थी। दो सीटें गठबंधन की अन्य पार्टियों और अमेठी-रायबरेली सीटें कांग्रेस के लिए छोड़ दी थी। कांग्रेस के लिए दो सीटें छोड़ने की घोषणा के साथ ही दोनों ने यह भी साफ किया था कि वे कांग्रेस के साथ कोई गठबंधन नहीं करेंगे। हालांकि, कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा को पूर्वी उत्तर प्रदेश की कमान मिलने के बाद से उत्तर प्रदेश की राजनीति में हलचल देखने को ‎मिल रही है।
पिछले दिनों खबर आई थी कि राजनीति में प्रियंका गांधी की एंट्री के बाद सपा और बसपा दोनों ने ही अपनी रणनीति में बदलाव किया है। खबर थी कि प्रियंका फैक्टर के सीटवार आंकलन और उम्मीदवार की मजबूती के आधार पर सपा-बसपा अपने उम्मीदवारों की घोषणा करेंगी। बता दें कि नवनियुक्त कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी लखनऊ दौरे पर हैं। प्रियंका के लखनऊ आगमन को लेकर कांग्रेसियों में गजब का उत्साह देखने को मिल रहा है। अमौसी एयरपोर्ट से कांग्रेस मुख्यालय तक प्रियंका गांधी 25 किमी लंबा रोड शो होगा। इस दौरान 28 जगहों पर प्रियंका गांधी का कांग्रेसी स्वागत करेंगे। साथ ही प्रियंका गांधी लालबाग में जनसभा को भी संबोधित करेंगी। प्रियंका के साथ पश्चिमी यूपी के महासचिव ज्योतिरादित्य सिंधिया और अध्यक्ष राहुल गांधी भी रोड शो में मौजूद रहेंगे। एक दिन पहले प्रियंका गांधी ने कांग्रेस कार्यकर्ताओं के लिए ऑडियो टेप जारी किया था। इसमें वह कह रही हैं, मैं प्रियंका गांधी वाड्रा, आप सब से मिलने लखनऊ आ रही हूं। आशा है कि हम सब मिलकर एक नई राजनीति की शुरुआत करेंगे। एक ऐसी राजनीति जिसमें आप सब भागीदार होंगे। मेरे युवा दोस्त, मेरी बहनें और सबसे कमजोर व्यक्ति, सबकी आवाज सुनाई देगी। आइए, मेरे साथ मिलकर, इस नई राजनीति का निर्माण करें।