उत्तर प्रदेश में आलू भंडारण की समस्या

0
2

लखनऊ (ईएमएसव)। उत्तर प्रदेश में नए आलू की आवक की वजह से इनके भंडारण की समस्या भी खड़ी हो गई है, क्यों‎कि उत्तर प्रदेश के कोल्ट स्टोरों में इस समय तीन लाख टन पुराना आलू का स्टॉक है। कोल्ट स्टोरों में जगह नहीं होने से किसानों को नए आलू रखने की समस्या हो रही है। दूसरी तरफ थोक मंडियों में न तो नए आलू की ठीक कीमत मिल रही है न ही पुराना आलू सही भाव बिक रहा है। इस समय थोक मंडी में नया और पुराना दोनों आलू करीब-करीब एक ही कीमत पर बिक रहा है। नए आलू तीन से पांच रुपए प्रति किलो और पुराना आलू तीन रुपए किलो बिक रहा है। गौरतलब है कि अक्टूबर में पुराना आलू थोक बाजार में 8 से 12 रुपये किलो बिक रहा था। अच्छी कीमत की आस में नवंबर में कोल्ड स्टोरों से आलू की निकासी पिछले साल जितनी नहीं हुई। नवंबर के तीसरे सप्ताह से बाजार में फर्रुखाबाद, फिरोजाबाद, हाथरस, एटा और आगरा की अगैती फसल के आते ही भाव गिरने शुरू हुए जिसके बाद कोल्ड स्टोरों से पुराने आलू की निकासी बंद हो गई। कोल्ड स्टोर मालिकों का कहना है कि प्रदेश सरकार इस समस्या से निपटने के लिए इस बार आलू की सरकारी खरीद समय से पहले शुरू करे। आलू ‎किसानों का कहना है कि इस बार कोल्ड स्टोरों में भंडारण की दिक्कत के चलते नए आलू की फसल सीधे बाजार में ही आ रही है जिसकी उचित कीमत नहीं मिल पा रही है।