Current Crime
देश

पोर्टेबल एंटी टैंक गाइडेड मिसाइल का परीक्षण

नई दिल्ली (ईएमएस)। रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन (डीआरडीओ) ने बुधवार को आंध्र प्रदेश के कुर्नूल में फायरिंग रेंज से मैन पोर्टेबल एंटी टैंक गाइडेड मिसाइल सिस्टम का सफल परीक्षण किया। यह मिसाइल प्रणाली का तीसरा सफल परीक्षण है, जिसे भारतीय सेना की तीसरी पीढ़ी के एंटी टैंक गाइडेड मिसाइल की आवश्यकता के लिए विकसित किया जा रहा है। इसको रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन (डीआरडीओ) ने विकसित किया है। मैन पोर्टेबल एंटी टैंक गाइडेंड मिसाइल का वजह बेहद कम है। इस मिसाइल को मैन पोर्टेबल ट्राइपॉड लॉन्चर से लॉन्च किया गया था। इसने अपने लक्ष्य को बेहद सटीकता और आक्रामकता के साथ भेद दिया। मैन पोर्टेबल एंटी टैंक गाइडेंड मिसाइल का यह तीसरी बार सफल परीक्षण किया गया है। रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने इस मिसाइल के सफल परीक्षण के लिए डीआरडीओ को बधाई दी है। इससे पहले भारतीय सेना ने राजस्थान के पोखरण फील्ड फायरिंग रेंज में तीसरी पीढ़ी के एंटी-टैंक गाइडेड मिसाइल नाग का सफल परीक्षण किया था। नाग मिसाइल को भी डीआरडीओ ने विकसित किया है. अब तीसरी पीढ़ी के गाइडेड एंटी-टैंक मिसाइल नाग को बनाने का काम इस साल के आखिर में शुरू हो जाएगा।

Related posts

Current Crime
Ghaziabad No.1 Hindi News Portal
%d bloggers like this: