Current Crime
अन्य ख़बरें देश बाजार

जून से 5 रुपए बढ़ सकते हैं पेट्रोल-डीजल के दाम

नई दिल्ली। लॉकडाउन में हुए घाटे को पाटने के लिए तेल विपणन कंपनियां जून में पेट्रोल-डीजल के दाम 5 रुपये तक बढ़ा सकती हैं। इसके अलावा कंपनियां अगले महीने से कीमतों में रोजाना बदलाव की व्यवस्था को दोबारा बहाल करने की भी तैयारी में हैं। उनका कहना है कि लॉकडाउन में कम बिक्री के साथ सरकारों ने भी टैक्स बढ़ा दिया जिससे लागत और बिक्री में काफी अंतर आ गया है। सरकारी तेल विपणन कंपनी (ओएमसी) के आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि पिछले सप्ताह सभी खुदरा तेल विक्रेताओं ने बैठक कर मौजूदा स्थिति का आकलन किया है और लॉकडाउन के बाद कीमतों में रोजाना बदलाव की व्यवस्था शुरू करने का रोडमैप तैयार किया है। अगर लॉकडाउन को 5वीं बार बढ़ाया जाता है, तो भी सरकार से मंजूरी लेकर इस व्यवस्था को लागू किया जाएगा। पिछले दो महीने मेें तेल की बेहद कम बिक्री से कंपनियों को बड़ा घाटा हुआ है। एक सरकारी तेल कंपनी के अधिकारी ने कहा कि पिछले महीने के मुकाबले ब्रेंट क्रूड की कीमत 50 फीसदी बढ़कर 30 डॉलर प्रति बैरल से ऊपर पहुंच गई है। यही स्थिति रही तो जून से पेट्रोल-डीजल की मौजूदा कीमत पर नुकसान होना शुरू हो जाएगा। ऐसे में प्रतिदिन 40-50 पैसे की बढ़ोतरी करनी पड़ेगी।

लॉकडाउन में 90 फीसदी गिरी बिक्री
तेल विपणन कंपनियों का कहना है कि लॉकडाउन के दौरान बिक्री 90 फीसदी तक गिर गई। हालांकि, वैश्विक कीमतों में बड़ी गिरावट से इसकी भरपाई में मदद मिली थी। लेकिन केंद्र सरकार ने पेट्रोल पर 10 रुपए प्रति लीटर और डीजल पर 13 रुपए उत्पाद शुल्क बढ़ा दिया जिससे कंपनियों का प्रति लीटर मुनाफा 12-18 रुपए से गिरकर 4-5 रुपये पर आ गया। इसके बाद वैश्विक बाजार में क्रूड महंगा भी होने लगा, जिससे कीमतों को लेकर दबाव बढ़ गया है। दिल्ली में 5 मई को वैट बढ़ाए जाने के बाद पेट्रोल की कीमत 71.26 रुपए लीटर व डीजल 69.39 रुपए लीटर हो गई है, जो 16 मई से पहले क्रमश: 69.59 रुपए और 62.28 रुपए थी।

Related posts

Current Crime
Ghaziabad No.1 Hindi News Portal
%d bloggers like this: