Current Crime
देश

करतारपुर कॉरिडोर मामले में दोहरा रंग दिखा रहा पाकिस्तान पुल निर्माण को लेकर ढुलमुल रवैया

नई दिल्ली (ईएमएस)। पाकिस्तान स्थित सिखों के धार्मिक तीर्थस्थल करतारपुर कॉरिडोर निर्माण मामले पाकिस्तान का दोहरा चरित्र उजागर हो गया है। शुरुआत में उत्साह दिखाने वाला पाकिस्तान अब इस पर अपने पैर पीछे खिंचता दिख रहा है। इस कॉरिडोर का निर्माण पाकिस्तान स्थित गुरुद्वारा करतारपुर साहिब तक श्रद्धालुओं की पहुंच के लिए बनाया जा रहा है। कहा जाता है कि इसी स्थान पर गुरु नानक देव ने अपने जीवन के 18 वर्ष बिताए थे। भारत ने अपनी सीमा में इस गलियारे के काम को तेजी से अंजाम दिया है। भारत ने इस कॉरिडोर के तहत 4 लेन हाइवे स्ट्रेच का निर्माण लगभग पूरा कर लिया है। हालांकि पाकिस्तान ने अपनी तरफ ऑल वेदर ब्रिज के काम को लटका रखा है, जबकि इस प्रोजेक्ट को पूरा करने के लिए नवंबर की डेडलाइन रखी गई है।
नवंबर में ही सिख संप्रदाय के संस्थापक गुरु नानक देव की 550वीं जयंती है। 27 मई को टेक्निकल विशेषज्ञों की समूह बैठक में पाकिस्तान ने इस रास्ते पर एक ऊंचा मार्ग बनाने की बात कही थी, लेकिन इस पर भारत की हाइवे निर्माण संस्था एनएचएआई ने कहा था कि यह ठीक नहीं है। एनएचएआई एवं अन्य अधिकारियों का कहना था कि इस रास्ते पर रावी में बाढ़ के चलते खतरे की स्थिति होगी।
सूत्रों का कहना है कि भारत की ओर से बनने वाले 4 लेन हाइवे को पाकिस्तान की तरफ बने टून-लेन रास्ते पर मिलाना था। इसके अलावा भारतीय सीमा में एक ऑलवेदर ब्रिज बनना है, जो पाकिस्तान में कॉजवे यानी पक्की और ऊंची सड़क पर जाकर निकलता। दोनों देशों के बीच निर्माण को लेकर इस विसंगति पर कई बार चर्चाएं हुई थीं। ‘पुल न बना तो बढ़ आने पर रुक सकती है यात्रा’ हालांकि पाकिस्तान ने अपने सीमित संसाधनों और गुरु नानक देव जी की 550वीं जयंती के उत्सव में कम वक्त बचे होने की बात कही थी। पाकिस्तान का यह रवैया उसके पुराने के रुख के उलट है, जिसमें उसने करतारपुर कॉरिडोर के निर्माण को लेकर उत्साह दिखाया था। एक सरकारी अधिकारी ने बताया, ‘यदि पाकिस्तान के रास्ते में बनी रोड पर रावी नदी में बाढ़ आने पर पानी भर जाता है तो फिर तीर्थ यात्रा अस्थायी तौर पर रुक जाएगी। इसकी बजाय यदि दोनों ही तरफ से पुल का निर्माण हो जाए तो हर मौसम में यात्रा को जारी रखा जा सकेगा।’

Related posts

Current Crime
Ghaziabad No.1 Hindi News Portal
%d bloggers like this: