Current Crime
अन्य ख़बरें ग़ाजियाबाद दिल्ली एन.सी.आर

या देवी सर्व भूतेषु शांति रूपेण संस्थिता

चैत्र नवरात्र मातृ शक्ति की महिमा के साथ साथ भारतीय संस्कृति की महिमा को भी अपने में समेटे हैं। हमारा देश ही ऐसा देश है जहां ‘नारी सर्वत्र पूज्यते’ की परम्परा है। भारतीय संस्कृति में हिन्दु संस्कृति एक ऐसी संस्कृति है जहां विद्या, धन और शक्ति का सोत्र ही नारी शक्ति को माना गया है। जब हम विद्या से भूषित होना चाहते हैं तो मां सरस्वती की आराधना करते हैं। विद्या की देवी मां सरस्वती ही हैं। जब हम धन की कामना करते हैं तब हम नारी शक्ति, आदि शक्ति मां लक्ष्मी की उपासना करते हैं। शत्रु विनाश, भय विनाश के लिए महा काली की उपासना भारतीय संस्कृति और धर्म शास्त्रों में कही गयी है। नारी की शक्ति, नारी का महत्व हमारे पूजन से लेकर जीवन के प्रत्येक पहलू में आता है। शत्रु विनाश के लिए महिषासुर मर्दनी भी नारी शक्ति है तो ज्ञान का स्वरूप भी विदुषी महिला के रूप हैं। कन्या पूजन हमारी संस्कृति का हिस्सा है तो कन्या का दान भी हमारे यहां ही होता है। विश्व की सभी संस्कृति से उत्तम भारतीय संस्कृति है। भारतीय संस्कृति और सभ्यता के अनुपालन में ही करंट क्राईम परिवार सम्पूर्ण नवरात्र सहभोज और भण्डारे का आयोजन प्रति वर्ष करता है। मैं उन सभी केन्द्रीय मंत्रियों, प्रदेश सरकार के मंत्रियों, प्रशासनिक अधिकारियों, सभी पुलिस अधिकारियों, सभी राजनीतिक दलों के नेताओं, सभी सामाजिक कार्यकर्ताओं तथा हस्तियों का हृदय से धन्यवाद अदा करता हूं। सामाजिक समरसता, भारतीय संस्कृति, धर्म और संस्कारों की जो पहल करंट क्राइम परिवार ने नवरात्र सेवा के माध्यम से शुरू की उसमें समाज के सभी वर्गों ने अपने कर कमलों से भोजन वितरित कर पुण्य कार्य में जो उत्साह दिखाया है उसके लिए मेरे पास धन्यवाद के शब्द नहीं हैं। धर्म और राजनीति एक ही तस्वीर के दो पहलू हैं। यह दोनों एक दूसरे के पूरक हैं। मैं सभी के प्रति आभार व्यक्त करते हुए इतना ही कहना चाहता हूं कि कोई भी देश और कोई भी संस्कृति तभी विश्व के पटल पर अपना नाम रोशन करती है जब धर्म के काम में पूरा देश एक साथ जुटता है। जिस देश में धर्म मजबूत होगा उस देश में राजनीति कभी कमजोर नहीं हो सकती। चैत्र नवरात्र पर्व पर उत्तर प्रदेश सरकार ने जहां धार्मिक आस्थाओं को लेकर मजबूत फैसला लिया। यहां तारीफ करनी होगी समाज के सभी वर्गों की कि उन्होंने भावनाओं का सम्मान करने वाले इस फैसले को दिल से आदर दिया और कही कोई विवाद जैसी बात नजर नहीं आयी। देश आगे बढ़ेगा और महिला सम्मान की संस्कृति वाले देश में महिलाओं की सुरक्षा सबसे बड़ा मुददा होना चाहिए। हमारी संस्कृति में महिला शक्ति को सबसे प्रथम रखा गया है। धन, विद्या, बुद्धि, शक्ति सभी की प्रार्थना हम मातृ शक्ति से ही करते हैं।

Related posts

Current Crime
Ghaziabad No.1 Hindi News Portal
%d bloggers like this: