Current Crime
राजस्थान राज्य

वाहन चोरी होने पर अब दर्ज करा सकेंगे ऑनलाइन एफआईआर

जयपुर (ईएमएस)। वाहन चोरी होने पर अब थाने जाकर एफआईआर लिखवाने की जरूरत नहीं रहेगी। पीडि़त व्यक्ति खुद इंटरनेट का उपयोग कर एफआईआर दर्ज करवा सकेगा। हालांकि यह सुविधा सिर्फ वाहन चोरी होने पर ही उपयोग में ली जा सकेगी। वाहन चोरी के आरोपी को पहचाने जाने, चोट लगने या बल प्रयोग होने की स्थिति में पीडि़त को थाने जाकर ही एफआईआर दर्ज करानी होगी।
महानिदेशक पुलिस ओपी गल्होत्रा ने पुलिस मुख्यालय में राजस्थान पुलिस के स्टेट क्राइम रिकार्ड्स ब्यूरो के तत्वावधान में आमजन की सुविधा के लिए बनाए गए ऑनलाइन ई-एफआईआर (केवल वाहन चोरी हेतु) एवं पुलिस कर्मियों हेतु लर्निंग मैनेजमेंट सिस्टम (एलएमएस) के शुभारंभ अवसर पर कहा कि ई-एफआईआर के माध्यम से आमजन बिना थाने पर गए इंटरनेट का उपयोग कर अपने वाहन चोरी की रिपोर्ट ऑनलाइन दर्ज करा सकता है। ई-एफआईआर (केवल वाहन चोरी के लिए) अभियुक्त अज्ञात हो व घटना के दौरान चोट या बल प्रयोग नहीं होने की स्थिति में दर्ज कराई जा सकती है। यदि चोरी की घटना, जिसमें अभियुक्त ज्ञात हो अथवा घटना के दौरान चोट या बल प्रयोग किया गया हो तो उसकी शिकायत संबंधित थाने में दर्ज करवाई जा सकेगी। यह सुविधा स्टेट क्राइम रिकार्ड्स ब्यूरो राजस्थान जयपुर द्वारा तैयार किए गए क्राइम एंड क्रिमिनल ट्रेकिंग एंड नेटवर्किग सिस्टम से जुड़ी हुई है। राजस्थान में वाहन चोरी की शिकायत दर्ज कराने के लिए वैकल्पिक व्यवस्था ई-एफआईआर के माध्यम से प्रदान कराने के साथ उसे क्राइम एंड क्रिमिनल ट्रेकिंग एंड नेटवर्किग सिस्टम से एकीकृत करने वाला पहला राज्य है। एससीआरबी अतिरिक्त महानिदेशक पुलिस हेमंत प्रियदर्शी ने बताया कि आमजन अपनी एसएसओ आईडी से लॉगिन करके ई-एफआईआर दर्ज करा सकता है । यह सिस्टम राजधारा एप से भी एकीकृत है। इसकी यह विशेषता है कि थाने की सीमा का पता नहीं होने पर भी ई-एफआईआर दर्ज करवाई जा सकती है। इसके लिए राजधारा एप में थानों की सीमा को अंकित किया गया है। आमजन राजधारा एप के नक्शे पर चोरी की लोकेशन को चिन्हित कर सकता है। इससे संबंधित थाने का नाम एवं लोकेन की जानकारी स्वत: ही शिकायत फार्म में दर्ज हो जाती है।

Related posts

Current Crime
Ghaziabad No.1 Hindi News Portal
%d bloggers like this: