Current Crime
उत्तर प्रदेश

समाजवाद व ईमानदारी के प्रतिमा थे रामशरण दास

लखनऊ। वरिष्ठ समाजवादी नेता, स्वतंत्रता सग्राम सेनानी, लोहिया के अनुयायी एवं समाजवादी पार्टी के संस्थापक प्रदेश अध्यक्ष रामशरण दास की 88 वीं जयंती के उपलक्ष्य में सपा मुख्यालय-परिसर में आयोजित समृति सभा को सम्बोधित करते हुए समाजवादी नेता व कैबिनेट मंत्री शिवपाल सिंह यादव ने कहा कि रामशरण जी ईमानदारी, सतत संघर्ष एवं समाजवाद की जीवन प्रतिमा थे। (samajwadi party latest news hindi) उनके विरासत एवं सृमतियों को संजोए रखने के लिए राजधानी लखनऊ में श्री दास की आदमकद मूर्ति लगेगी।
श्री यादव ने रामशरण दास जी के कई संस्मरण सुनाते हुए बतलाया कि हमारी पीढ़ी के समाजवादियों ने दास जी से काफी कुछ सीखा है। रामशरण जी मेरे गुरू थे। नई पीढ़ी के समाजवादियों को उनके जीवन दर्शन से लोकजीवन में सादगी एवं सतत संघर्ष की प्रेरणा लेनी चाहिए। उन्होंने कहा कि श्री दास दो बार कैबिनेट मंत्री, योजना आयोग के उपाध्यक्ष, एम0एल0ए0 और एम0एल0सी0 एवं सपा के 16 साल प्रदेश अध्यक्ष रहे लेकिन ईमानदार इतने थे कि अपने गांव का कच्चा मकान भी पक्का नही कर सके। उन्होंने पूरा जीवन समाजवादी आन्दोलन में मजबूत करने में लगा दिया। वे कहा करते थे कि समाजवादियों को पांच साल की ट्रेनिंग के बाद पार्टी का पद और 10 साल के बाद टिकट देना चाहिए। उन्हें सत्ता एवं सुविधाओं का लोभ कभी नहीं रहा।
वे कभी भी साधनांे के मोहताज नहीं रहे। उन्होंने नई पीढ़ी के समाजवादियों में पढ़ाई-लिखाई एवं सामाजिक सरोकारों के प्रति कम होती अभिरुचि पर चिंता व्यक्त की। सभी जानते है कि उन्हीं की गवाही पर इंदिरा गांधी जी के विरूद्ध उच्च न्यायालय का फैसला आया और तदुपरान्त आपातकाल थोपा गया। मुकदमें के दौरान रामशरण दास जी पर काफी दबाव पड़ा, उन्हें तमाम तरह के प्रलोभन भी दिये गये लेकिन रामशरण जी सच्चे समाजवादी थे, वे न झुके न बिके। शिवपाल सिंह ने रामशरण दास के बहाने इमरजेंसी के दौरान समाजवादियों के संर्घष को भी याद किया। इस अवसर पर शिवपाल जी ने राम मनोहर लोहिया जी के साथ तीन बार जेल जा चुके व रामशरण जी के साथी 87 वर्षीय बद्री प्रसाद शर्मा को सम्मानित किया।
स्मृति सभा का संचालन समाजवादी चिन्तन सभा के अध्यक्ष दीपक मिश्र ने किया। रामशरण जी की तस्वीर पर सपा प्रदेश उपाध्यक्ष नरेश उत्तम, राज्य मंत्री सुरेन्द्र सिंह पटेल, प्रदेश सचिव एस.आर.एस. यादव, विधायक संग्राम यादव, सयुस के प्रदेश अध्यक्ष बृजेश यादव समेत कई समाजवादियों ने माल्यार्पण व श्रद्धासुमन अर्पित किये।
लोक निर्माण विभाग के 8 अधिशासी अभियन्ता (सिविल) स्थानान्तरित
लखनऊ। उत्तर प्रदेश के लोक निर्माण एवं सिंचाई मंत्री श्री शिवपाल सिंह यादव के निर्देश पर लोक निर्माण विभाग के अधिशासी अभियन्ता (सिविल) सर्वश्री तारा चन्द्र दोहरे को सम्बद्ध प्रमुख अभियन्ता कार्यालय, लखनऊ से अधिशासी अभियन्ता, नियोजन-1, लोक निर्माण विभाग, लखनऊ, विनोद कुमार श्रीवास्तव को प्रोगेस माॅनीटरिंग खण्ड, लखनऊ से सेतु परिकल्पना खण्ड-12, लोक निर्माण विभाग, लखनऊ, बृजेश कुमार को राष्ट्रीय मार्ग खण्ड, लोक निर्माण विभाग, मुरादाबाद से निर्माण खण्ड, लोक निर्माण, बलिया, योगेश पवार को निर्माण खण्ड-1(इण्डो नेपाल बार्डर), लो0नि0वि0, श्रावस्ती से राष्ट्रीय मार्ग खण्ड, लोक निर्माण विभाग, मुरादाबाद, रमेश चन्द्र शुक्ला को सेतु अनुश्रवण प्रकोष्ठ, लोक निर्माण विभाग, लखनऊ से प्रान्तीय खण्ड, लोक निर्माण विभाग, बलिया, कृष्ण गोपाल सारस्वत को निर्माण खण्ड-4 (इण्डो नेपाल बार्डर) लोक निर्माण विभाग, खीरी से प्रान्तीय खण्ड, लोक निर्माण विभाग, जौनपुर, रामेश्वर सिंह को सम्बद्ध प्रमुख अभियन्ता कार्यालय, लखनऊ से प्रान्तीय खण्ड, लोक निर्माण विभाग, अम्बेडकरनगर एवं मिथलेश कुमार को निर्माण खण्ड (प्र0प0), लोक निर्माण विभाग, फतेहपुर से निर्माण खण्ड, लोक निर्माण विभाग, आजमगढ़ स्थानान्तरित किया गया है। यह जानकारी विभाग के प्रमुख सचिव श्री किशन सिंह अटोरिया ने आज यहाॅ दी।

Related posts

Current Crime
Ghaziabad No.1 Hindi News Portal
%d bloggers like this: