Current Crime
अन्य ख़बरें उत्तर प्रदेश ग़ाजियाबाद दिल्ली एन.सी.आर

15 से 20 दिसम्बर के बीच हो जायेगी निगम चुनाव की अधिसूचना जारी!

गाजियाबाद (करंट क्राइम)। इस वक्त सियासी माहौल निगम और निकाय चुनाव को लेकर है। सत्ताधारी दल से लेकर विपक्ष अपनी तैयारियों को भले ही लोकसभा चुनाव के मद्देनजर रखकर सियासी ईवेंट का कलेन्डर तैयार कर रहे हैं लेकिन चुनाव से पहले ये चुनाव आने वाले सियासी समय की तैयारी का एक लिटमस टेस्ट है। कहा यही जाता है कि इस चुनाव से सरकार पर फर्क नहीं पड़ता लेकिन इस चुनाव से सरकार वाले बहुत से सियासी चेहरों पर फर्क पड़ता है। जिनकी जिंदगी निगम और निकाय की सियासत में बीती है। उनके पॉलिटिकल कैरियर पर फर्क पड़ता है। बहरहाल जो भी दावेदार से लेकर उम्मीदवार के सफर की तैयारी है वो अपनी तैयारी को तेज कर दें क्योंकि परीक्षा की घड़ी नजदीक आ रही है। सूत्र बता रहे हैं कि इस बार सर्दी के मौसम में सियासी पारा बढ़ जायेगा। 15 से 20 दिसम्बर के बीच चुनाव की अधिसूचना जारी हो जायेगी। एक बार फिर चुनाव समय से होने जा रहे हैं और 15 नवम्बर को वोटर लिस्ट फाईनल हो जायेगी। मतदाता सूचि का अंतिम प्रकाशन होगा और फिर चुनावी घोषणा का काउन्टडाउन शुरू हो जायेगा। गाजियाबाद की बात करें तो यहां नगर निगम के 100 वार्ड हैं और मेयर का चुनाव भी सीधे जनता से होता है। इसके अलावा यहां मुरादनगर नगरपालिका परिषद, लोनी नगरपालिका परिषद, खोड़ा नगरपालिका परिषद में भी चुनाव होने हैं। दिसम्बर का महीना इस बार अपने साथ वार्ड वाली सियासत का एक पैगाम लेकर आ रहा है।
ओबीसी सर्वे पूरा होने के बाद शुरू होगा वार्ड में आरक्षण का काम
नगर निगम के 100 वार्ड हैं और यहां पर सबसे बड़ी बात ये है कि अभी तकनीकी रूप से यहां वार्ड परिसीमन नहीं हो सकता है। यदि वार्ड परिसीमन होता तो मेयर को लेकर ही खेल दूसरा होता । एक भी वार्ड अगर परिसीमन में बढ़ जाता तो हिन्डन पार को नया मेयर मिल जाता। लेकिन अभी परिसीमन यहां नहीं होगा और यहां पर ओबीसी सर्वे चल रहा है। ओबीसी सर्वे पूरा होने के बाद वार्ड आरक्षण का काम शुरू होगा। कौन सा वार्ड कौन सी श्रेणी में आयेगा ये सर्वे के बाद रिपोर्ट में आयेगा। आरक्षण की प्रक्रिया पूरी होने में अभी एक महीने का समय लगेगा।
आधी आबादी के वार्ड आरक्षण की तीन कैटेगिरी में होगी मुनादी
नगर निगम के सौ वार्डों में जो आरक्षण सबसे ज्यादा प्रभावित करेगा वो आधी आबादी यानी महिला शक्ति का आरक्षण वार्ड होगा। क्योंकि ये आरक्षण तीन कैटेगिरी में आयेगा। कोई वार्ड सामान्य महिला आरक्षित होगा तो कोई वार्ड ओबीसी महिला आरक्षित हो जायेगा। किसी वार्ड को अनुसूचित जाति महिला वार्ड का दर्जा मिलेगा। ऐसे में ये आरक्षण कई मेल लीडरों के वार्ड वाले चुनावी खेल को प्रभावित करेगा।
15 नवम्बर से 15 जनवरी तक हो जायेगा नये सदन का गठन
चुनावी तैयारियों की बात करें तो मतदाता सूचि का काम शुरू हो गया है। प्रशासन के पास शासन की ओर से मतदाता सूचि को लेकर निर्देश आ चुके हैं। 15 नवम्बर को नगर निगम चुनाव और नगरनिकाय चुनाव की मतदाता सूचि फाईनल हो जायेगी। इसके बाद सूत्र बताते हैं कि चुनाव की अधिसूचना जारी होगी, चुनाव होगा और दिसम्बर के महीने में चुनाव सम्पन्न होने के बाद 15 जनवरी तक नये सदन का गठन हो जायेगा।

Related posts

Current Crime
Ghaziabad No.1 Hindi News Portal
%d bloggers like this: