आप्टिकल फाइबर तकनीक की खोज करने वाले नोबल पुरस्कार प्राप्त भौतिकशास्त्री चार्ल्स काव का निधन गले पर छुरी रख अपने व्यावसायिक हित साध रहा है अमेरिका : चीन मालदीव राष्ट्रपति सोलिह के शपथ ग्रहण में जा सकते है पीएम मोदी कॉन्टेक्ट लेंस पहनने वालों की आंखों में संक्रमण -व्यक्ति हो सकता है अंधेपन का शिकार कैंसर का पता लगाने वाला उपकरण विकसित -लंच बॉक्स के आकार का है उपकरण शशि थरूर की अग्रिम जमानत रद्द करने के समर्थन में पुलिस तालाब में डूबकर चालक की मौत कुछ चीजें हमारे पक्ष में नहीं रहीं : धोनी भारतीय युवा टीमों का भविष्य उज्जवल : छेत्री पांच राज्यों में चुनाव समितियां गठित करेगी भाजपा
Home / अन्य ख़बरें / न कोई भी जीत अंतिम न कोई भी हार अंतिम

न कोई भी जीत अंतिम न कोई भी हार अंतिम

समाधान शक्ति के उल्लास कवि सम्मेलन में देर रात तक झूमते रहे लोग
करंट क्राइम

गाजियाबाद। समाधान शक्ति सामाजिक संस्था के तत्वावधान में शालीमार गार्डन इलाके में भव्य कवि सम्मेलन का आयोजन किया गया। सांसद प्रतिनिधि संजीव शर्मा और पूर्व पार्षद व समाधान शक्ति सामाजिक संस्था के प्रदेश अध्यक्ष पप्पू पहलवान द्वारा आयोजित कराए गए ‘उल्लास’ कवि सम्मेलन का उद्घाटन सांसद व केंद्रीय विदेश राज्यमंत्री जनरल वीके सिंह ने दीप प्रज्जवलन कर किया। कवि सम्मेलन में स्वागत अध्यक्ष के रूप में यशोदा अस्पताल के एमडी पीएन अरोड़ा मौजूद थे।
कार्यक्रम के मुख्य संयोजक के रूप में सांसद प्रतिनिधि संजीव शर्मा, पप्पू पहलवान और सिविल डिफेंस के चीफ वॉर्डन ललित जायसवाल ने सभी अतिथियों का स्वागत किया। इस कवि सम्मेलन में उत्तर प्रदेश के खाद्य एवं रसद राज्यमंत्री अतुल गर्ग, साहिबाबाद विधायक सुनील शर्मा सहित कई गणमान्य लोगों ने देर रात तक चले कवि सम्मेलन का आनंद लिया। कवि सम्मेलन का स्थल उस समय तालियों की गड़गड़ाहट से गंूज उठा जब ओज रस के जाने-माने कवि हरिओम पंवार ने अपनी कविता ‘जहां तिरंगा नहीं मिलेगा, उनकी खैर नहीं होगी’को पढ़ा। कवि सम्मेलन में डॉ. प्रवीण शुक्ल की रचना ‘न कोई भी जीत अंतिम, न कोई भी हार अंतिम’ को श्रोताओं द्वारा बेहद सराहा गया। श्रीकांत श्री की कविता ‘शहीदों की शहादत को कभी बदनाम मत करना’ और सुदीप भोला की कविता ‘बिटिया ब्यूटीफुल, वंडरफुल ये बाबुल की बगिया की बुलबुल’ को भी श्रोताओं ने जमकर दाद दी। कार्यक्रम के मुख्य संयोजक संजीव शर्मा और पप्पू पहलवान के साथ जब संयोजक के रूप में सिविल डिफेंस के चीफ वॉर्डन ललित जायसवाल ने कमान संभाली तो कवि सम्मेलन की भव्यता में चार चांद लग गए।
संजीव शर्मा और पप्पू पहलवान पिछले कई वर्षों से शालीमार गार्डन क्षेत्र में इस भव्य कवि सम्मेलन का आयोजन कराते आए हैं। संजीव शर्मा के अथक प्रयासों से आज यह कवि सम्मेलन इस क्षेत्र की एक बड़ी सांस्कृतिक पहचान बन चुका है। समाधान शक्ति सामाजिक संस्था द्वारा डॉ. भीमराव अंबेडकर जयंती और हिंदू नववर्ष के उपलक्ष्य में आयोजित कवि सम्मेलन में यशपाल पहलवान, अनिल राणा, सचिन डागर, चतर सिंह, आशुतोष शर्मा, आनंद गुप्ता, कृपाल सिंह, आलोक शर्मा, पवन रेड्डी, रामनिवास बंसल, संजय त्यागी, देवेंद्र भाटी, अतुल गुप्ता, गोपाल शिशौदिया, दीपक राघव, आदर्श गुप्ता, संदीप पाल, पंकज भारद्वाज, हरीश गौड़, विवेक सक्सेना, संदीप पंडित, मनोज रावत, रमेश टिक्कू, जेएस बेदी, प्रमोद जोशी, अनिल शर्मा, राहुल शर्मा, श्याम शर्मा, नंदन करण, संजय डेढा, नंदकिशोर वशिष्ठ, दिनेश कौशिक आदि का सराहनीय योगदान रहा।

Check Also

पाक कप्तान ने कहा, रोहित, शिखर की बल्लेबाजी से जीता भारत

दुबई (ईएमएस)। पाकिस्तान के कप्तान सरफराज अहमद ने भारतीय सलामी बल्लेबाजों शिखर धवन और रोहित …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *