इमरान खान का कबुलनामा, पाकिस्तान में रची गई मुंबई हमले की साजिश, दोषियों को दूंगा सजा सपा बोली- योगी आदित्यनाथ यूपी के सबसे अयोग्य मुख्यमंत्री करंट से समलैंगिकता का इलाज करने वाले चिकित्सक को कोर्ट ने किया तलब फिल्‍म निर्माता प्रेरणा अरोरा गिरफ्तार शरद यादव ने वसुंधरा के बारे में दिए गए बयान पर खेद जताया 21 साल बाद राजकुमारी दीया ने मांगा तलाक दिल्ली-एनसीआर: दो हफ्तों से हवा में कोई सुधार नहीं प्रवासी भारतीय देश की विकास गाथा के दूत हैं: गृह राज्‍यमंत्री रिजिजू रेप पीड़िता के इलाज के एवज में 9 लाख का बिल निजी अस्पतालों में होगा ‘आयुष्मान’ के दो तिहाई मरीजों का उपचार
Home / अन्य ख़बरें / न कोई भी जीत अंतिम न कोई भी हार अंतिम

न कोई भी जीत अंतिम न कोई भी हार अंतिम

समाधान शक्ति के उल्लास कवि सम्मेलन में देर रात तक झूमते रहे लोग
करंट क्राइम

गाजियाबाद। समाधान शक्ति सामाजिक संस्था के तत्वावधान में शालीमार गार्डन इलाके में भव्य कवि सम्मेलन का आयोजन किया गया। सांसद प्रतिनिधि संजीव शर्मा और पूर्व पार्षद व समाधान शक्ति सामाजिक संस्था के प्रदेश अध्यक्ष पप्पू पहलवान द्वारा आयोजित कराए गए ‘उल्लास’ कवि सम्मेलन का उद्घाटन सांसद व केंद्रीय विदेश राज्यमंत्री जनरल वीके सिंह ने दीप प्रज्जवलन कर किया। कवि सम्मेलन में स्वागत अध्यक्ष के रूप में यशोदा अस्पताल के एमडी पीएन अरोड़ा मौजूद थे।
कार्यक्रम के मुख्य संयोजक के रूप में सांसद प्रतिनिधि संजीव शर्मा, पप्पू पहलवान और सिविल डिफेंस के चीफ वॉर्डन ललित जायसवाल ने सभी अतिथियों का स्वागत किया। इस कवि सम्मेलन में उत्तर प्रदेश के खाद्य एवं रसद राज्यमंत्री अतुल गर्ग, साहिबाबाद विधायक सुनील शर्मा सहित कई गणमान्य लोगों ने देर रात तक चले कवि सम्मेलन का आनंद लिया। कवि सम्मेलन का स्थल उस समय तालियों की गड़गड़ाहट से गंूज उठा जब ओज रस के जाने-माने कवि हरिओम पंवार ने अपनी कविता ‘जहां तिरंगा नहीं मिलेगा, उनकी खैर नहीं होगी’को पढ़ा। कवि सम्मेलन में डॉ. प्रवीण शुक्ल की रचना ‘न कोई भी जीत अंतिम, न कोई भी हार अंतिम’ को श्रोताओं द्वारा बेहद सराहा गया। श्रीकांत श्री की कविता ‘शहीदों की शहादत को कभी बदनाम मत करना’ और सुदीप भोला की कविता ‘बिटिया ब्यूटीफुल, वंडरफुल ये बाबुल की बगिया की बुलबुल’ को भी श्रोताओं ने जमकर दाद दी। कार्यक्रम के मुख्य संयोजक संजीव शर्मा और पप्पू पहलवान के साथ जब संयोजक के रूप में सिविल डिफेंस के चीफ वॉर्डन ललित जायसवाल ने कमान संभाली तो कवि सम्मेलन की भव्यता में चार चांद लग गए।
संजीव शर्मा और पप्पू पहलवान पिछले कई वर्षों से शालीमार गार्डन क्षेत्र में इस भव्य कवि सम्मेलन का आयोजन कराते आए हैं। संजीव शर्मा के अथक प्रयासों से आज यह कवि सम्मेलन इस क्षेत्र की एक बड़ी सांस्कृतिक पहचान बन चुका है। समाधान शक्ति सामाजिक संस्था द्वारा डॉ. भीमराव अंबेडकर जयंती और हिंदू नववर्ष के उपलक्ष्य में आयोजित कवि सम्मेलन में यशपाल पहलवान, अनिल राणा, सचिन डागर, चतर सिंह, आशुतोष शर्मा, आनंद गुप्ता, कृपाल सिंह, आलोक शर्मा, पवन रेड्डी, रामनिवास बंसल, संजय त्यागी, देवेंद्र भाटी, अतुल गुप्ता, गोपाल शिशौदिया, दीपक राघव, आदर्श गुप्ता, संदीप पाल, पंकज भारद्वाज, हरीश गौड़, विवेक सक्सेना, संदीप पंडित, मनोज रावत, रमेश टिक्कू, जेएस बेदी, प्रमोद जोशी, अनिल शर्मा, राहुल शर्मा, श्याम शर्मा, नंदन करण, संजय डेढा, नंदकिशोर वशिष्ठ, दिनेश कौशिक आदि का सराहनीय योगदान रहा।

Check Also

इलेक्ट्रिकल-ऑटोमेशन व्यवसाय के बारे में प्रतिस्पर्धा आयोग ने लोगों से मांगी राय

नई दिल्ली (ईएमएस)। भारतीय प्रतिस्पर्धा आयोग (सीसीए) ने 16 जुलाई, 2018 को लारसन एंड टूब्रो …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *