नीतीश को किसी की भी सलाह जरूरत नहीं: प्रशांत किशोर

0
2

पटना (ईएमएस)। हाल ही में बिहार के सुपौल में हाई स्कूल की हॉस्टल की लड़कियों के साथ हुई मारपीट के मामले में अब तक 10 लोग गिरफ्तार हो चुके हैं। दरअसल यहां छेड़खानी का विरोध कर रही लड़कियों को हॉस्टल में घुसकर कुछ लोगों द्वारा पीटा गया था। पूरे मामले में एडीजीपी (पुलिस हेडक्वार्टर) एसके सिंघल ने बताया 10 लोगों को अभी तक इस मामले में गिरफ्तार किया गया है। वहीं इस मुद्दे को लेकर विपक्ष राज्य की नीतीश सरकार पर निशाना साधा रहे हैं। इस मामले पर चुनाव रणनीतिकार एवं जेडीयू नेता प्रशांत किशोर ने भी अपनी बात रखी है। उन्होंने कहा कि जहां तक उन्हें मालूम है दोषियों को सजा दिलाने एवं न्याय करने के लिए सरकार जरूरी कदम उठा रही है। उन्होंने यह भी कहा कि नीतीश कुमार के चेतना को जगाने के लिए उन्हें नाम मेरी ना किसी और की जरूरत है। गौरतलब है कि प्रशांत किशोर ने पिछले महीने ही जेडीओ का दामन थामा है।
गौरतलब है कि शनिवार परिसर में खेल रही छात्राओं को बाहर से मनचले अभद्र टिप्पणियां कर रहे थे। इसकी शिकायत शिक्षकों से करने पर वह मनचले वहां से चले गए, परंतु बाद में अपने कई साथियों और गांववालों के साथ स्कूल में घुसकर मारपीट करने लगे। इस दौरान घायल हुई सभी छात्राओं को इलाज के लिए सुपौल के सदर अस्पताल भेजा गया। सदर अस्पताल के डॉक्टर ने बताया कि सभी घायल छात्राओं की स्थिति अब बेहतर है। कई छात्राओं को अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है, वहीं बाकियों का इलाज होने के बाद उन्हें छुट्टी दी जाएगी।