पीएम मोदी की रैली के लिए जुटे एनडीए नेता, पर शहीद पिंटू सिंह को श्रद्धांजलि देने नहीं गया कोई

0
172

पटना (ईएमएस)। सियासत कीतनी खराब हो गई है कि अब नेता शहीदों को भी नजरअंदाज करने लगे हैं। इसका एक उदाहरण पटना में देखने को मिला है। दरअसल, जम्मू कश्मीर के कुपवाड़ा में मुठभेड़ में शहीद हुए सीआरपीएफ के जवान पिंटू कुमार सिंह का पार्थिव शरीर पटना एयरपोर्ट लाया गया। जहां उनको श्रद्धांजलि देने के लिए डीएम-एसएसपी और एक कांग्रेस के नेता के अलावा कोई नहीं पहुंचा जबकि पटना में इस समय एनडीए के सभी बड़े नेता मौजूद हैं क्योंकि आज गांधी मैदान में पीएम मोदी की अगुवाई में रैली होने वाली है जिसमें मुख्यमंत्री नीतीश कुमार भी हिस्सा लेंगे। शहीद पिंटू सिंह बेगुसराय के रहने वाले थे और वहीं पर उनका अंतिम संस्कार किया जाएगा। मालूम हो कि भारत-पाकिस्तान में जारी तनाव के बीच जम्‍मू-कश्‍मीर के कुपवाड़ा जिले में आतंकियों के साथ मुठभेड़ में 4 सुरक्षाकर्मी शहीद हो गए थे। मुठभेड़ कुपवाड़ा के लंगेट इलाके में हुई। जिसमें सीआरपीएफ के एक इंस्‍पेक्‍टर पिंटू सिंह, एक जवान और जम्‍मू-कश्‍मीर पुलिस के दो पुलिसकर्मी शहीद हो गए। सूत्रों के अनुसार एक आतंकी जिसे मरा हुआ मान लिया गया था, ने एक क्षतिग्रस्‍त मकान से निकलकर अंधाधुंध फायरिंग शुरू कर दी।
इस बीच पाकिस्तान ने शुक्रवार को राजौरी और पुंछ जिलों में एलओसी पर चार सेक्टरों में गोलाबारी करके एक बार फिर संघर्ष विराम का उल्लंघन किया। इसमें एक महिला घायल हो गई। अधिकारियों ने बताया कि पाकिस्तानी सुरक्षा बलों ने पुंछ में असैन्य इलाकों को निशाना बनाने के लिये हॉवित्जर 105 एमएम तोप समेत बड़े हथियारों का इस्तेमाल किया। एक अधिकारी ने बताया, पाकिस्तानी सैनिकों ने पुंछ जिले के कृष्णा घाटी सेक्टर में नियंत्रण रेखा पर गोलीबारी की और मोर्टार दागे जो दिन में करीब डेढ़ बजे तक चला। अधिकारियों ने बताया कि पुंछ के मनकोट इलाके में गोलीबारी में नसीम अख्तर नामक महिला घायल हो गई। रक्षा जनसंपर्क अधिकारी ने बताया, शुक्रवार शाम करीब सवा चार बजे पाकिस्तान ने नौशेरा सेक्टर में नियंत्रण रेखा के पास बिना किसी उकसावे के छोटे हथियारों से गोलीबारी की और मोर्टार से गोले दागने शुरू कर दिये। गुरुवार को जम्मू कश्मीर के पुंछ और राजौरी जिलों में नियंत्रण रेखा के पास छह सेक्टरों में असैन्य इलाकों और अग्रिम चौकियों को निशाना बनाकर की गई पाकिस्तानी सेना की गोलाबारी में एक महिला मारी गई और एक जवान घायल हो गया। भारतीय सेना ने पाकिस्तान के इस हमले का मुंहतोड़ जवाब दिया। पाकिस्तानी सेना ने पिछले एक सप्ताह में 60 से ज्यादा बार संघर्ष विराम का उल्लंघन किया।