स्टेच्यू ऑफ यूनिटी के साथ जुड़ा फूलों के मेघधनुषी रंगों का नजराना ‘वैली ऑफ फ्लॉवर्स’

0
19

अहमदाबाद (ईएमएस)| सरदार पटेल की विश्व की सबसे ऊंची प्रतिमा- स्टेच्यू ऑफ यूनिटी के आकर्षण का केंद्र वैली ऑफ फ्लॉवर्स भी है। स्टेच्यू ऑफ यूनिटी के दोनों ओर नर्मदा नदी के तट पर 17 किलोमीटर क्षेत्र को विभिन्न प्रजाति के रंग-बिरंगे फूलों से खुशनुमा बनाने का यह प्रोजेक्ट फूलों की वैश्विक प्रजाति के साथ हमारे परंपरागत फूलों के सौंदर्य को भी प्रस्तुत करता है। इस प्रोजेक्ट के अंतर्गत ऊंचाई वाले वृक्षों के फूलों की प्रजाति में से चंपा, टेकोमा, बोगनवेलिया, नेरियम, क्वॉलिसिस, वडेलिया, ऑलमंड, केर्थटीका, बांस और घास की रंगीन प्रजातियों के साथ ही केंडुला, सूरजमुखी और विंका जैसी विभिन्न प्रजाति के सौ से ज्यादा फूल, बेलें तथा घास आदि से सजावट की गई है।
प्राथमिक चरण में वैली ऑफ फ्लॉवर्स में विभिन्न रंगों के फूलों की बुवाई के अंतर्गत 250 हेक्टेयर क्षेत्र को शामिल किया जाएगा। इसके बाद चरणबद्ध रूप से इस बड़ा कर 3000 हेक्टेयर तक ले जाया जाएगा। इस वैली ऑफ फ्लॉवर्स की विशेषता यह है कि 32500 वर्गफीट क्षेत्र को टपक सिंचाई पद्धति के अंतर्गत लिया गया है। यहां कमल आदि से सुशोभित दो सुंदर तालाब भी बनाए गए हैं। वैली ऑफ फ्लॉवर्स देखने आने वाले पर्यटक गुजरात के साथ नैसर्गिक तालमेल स्थापित कर सकें और वन एवं वन्य जीवों के प्रति उनका तादतम्य बने इस उम्दा उद्देश्य से नेचुरल ट्रेल के स्वरूप में रेवा ट्रेक, साधु ट्रेक, वैकुंठ बाबा ट्रेक, सरदार ट्रेक और अश्वत्थामा ट्रेक का भी निर्माण किया गया है। बगीचे का निर्माण भी यहां पर किया गया है जिसमें एडवेंचर पार्क, गार्डन ऑफ फाइव सेंस, सेल्फी विथ स्टेचू, सरदार गार्डन विशेष आकर्षण स्थापित करते हैं। वैली ऑफ फ्लॉवर्स कुदरत के इंद्रधनुषी रंगों के फूलों की सुंदरता के साथ पर्यटकों को अलौकिक आनंद प्रदान करने वाली साबित होगी।