मुंबई के सौरभ बने अमेरिका की राष्ट्रीय टीम के काप्तान

0
54

मुम्बई (ईएमएस)। मुंबई के सौरभ नेत्रावलकर अब अमेरिका की राष्ट्रीय क्रिकेट टीम के कप्तान बने हैं। उनकी कप्तानी में टीम अगले सप्ताह यह टीम ओमान में आईसीसी विश्व क्रिकेट लीग डिविजन 3 में खेलने के लिए जाएगी। सौरभ का यहां तक का सफर अलग तरह का रहा। इससे पहले साल 2010 में अंडर-19 विश्व कप में नेत्रावलकर ने भारत की ओर खेला था। उस समय इस बायें हाथ के तेज गेंदबाज ने भारत की ओर से सर्वाधिक विकेट लिए थे। तीन साल बाद रणजी ट्रोफी में मुंबई की ओर से कर्नाटक के खिलाफ उन्होंने अपना डेब्यू किया और इस मैच में तीन विकेट लिए। इसके बाद 2015 में वह कंप्यूटर इंजिनियरिंग की पढ़ाई के लिए अमेरिका चले गए।
नेत्रावलकर क्रिकेट में अपने भविष्य को लेकर संतुष्ट नहीं थे। खिलाड़ी ने कहा कि मैं अपने खेल को अगले स्तर पर नहीं ले जा पा रहा था। इसके बाद मैंने पढ़ाई पर ध्यान दियाऔर मुंबई की सरदार पटेल इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नॉलजी से इंजिनियरिंग में ग्रेजुएट करने के बाद मैंने अमेरिका की कोरनेल यूनिवर्सिटी में मास्टर करने लिए प्रवेश लिया।
अमेरिका में अपनी मास्टर डिग्री के दौरान उन्हें एक बार फिर क्रिकेट खेलना का मौका मिला, तो वह खुद को रोक नहीं पाए। पढ़ाई के दौरान उन्होंने क्रिकेट जारी रखा और ओराकल में नौकरी जॉइन करने के बावजूद भी क्रिकेट के प्रति अपने जुनून को बनाये रखा। 27 वर्षीय नेत्रावलकर हर सप्ताह सैन फ्रांसिस्को से लॉस एंजिल्स क्रिकेट खेलने आया करते थे।
जनवरी में उन्हें अमेरिका की राष्ट्रीय टीम में चुन लिया गया। अब नेत्रावलकर अमेरिकी टीम के कप्तान हैं और