विवादास्पद बयान देने के बाद मुश्किल में फंसे राजस्थान के मंत्री

0
21

(जयपुर) विवादास्पद बयान देने के बाद मुश्किल में फंसे राजस्थान के मंत्री
जयपुर (ईएमएस)। विवादास्पद बयान देने वाले राज्य सरकार के मंत्री धनसिंह रावत आचार संहिता के उल्लंघन को लेकर फंस गए हैं। 26 अक्टूबर को बांसवाड़ा में एक रैली के दौरान रावत ने राजस्थान के सभी हिंदुओं को एक साथ वोट करने की अपील करते हुए कहा कि जब मुस्लिम एक जुट होकर कांग्रेस को वोट कर सकते हैं तो हिंदुओं को भी बीजेपी को वोट करना चाहिए।
धन सिंह रावत ने कहा था कि कांग्रेस मुस्लिमों की पार्टी है। वहीं बीजेपी वह पार्टी है जो हिंदुओं की सनातन संस्कृति का प्रतिनिधित्व करती है।
बांसवाड़ा में हुए नवशक्ति सम्मेलन में मंत्री धनसिंह रावत के बयान की शिकायत रिटर्निंग अधिकारी के पास पहुंची तो उन्होंने गंभीर मानते हुए नोटिस देकर तीन दिन में जवाब मांगा। लेकिन रावत ने जवाब देना उचित नहीं समझा। बाद में इसकी शिकायत मुख्य निर्वाचन अधिकारी तक पहुंची तो उन्होंने तत्काल एफआईआर करवाने के निर्देश दिए।
जिसके बाद सोमवार की देर रात रावत के खिलाफ एफआईआर दर्ज करवाई गई। उधर राजस्थान भाजपा चुनाव प्रभारी प्रकाश जावड़ेकर और भाजपा प्रदेश प्रभारी अविनाश राय खन्ना ने कहा की भाजपा जाति और धर्म के आधार पर वोट मांगने पर विश्वास नहीं करती। भाजपा सबका साथ सबका विकास पर विश्वास करती है।